उत्तर प्रदेश जूनियर भर्ती पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न/ UP Junior Teacher Syllabus 2021

0

यूपी टीचर सिलेबस | UP Aided Junior High School Teacher Syllabus 2021 | UP Junior High School Principal Teacher Syllabus in Hindi/English | UP Aided JH School Exam Pattern and Selection Process | UP Junior Teacher Syllabus 2021 PDF Download

UP Adhyapak Bharti syllabus उत्तर प्रदेश शिक्षा विभाग  के तहत होने वाली भर्ती –  यूपी  अध्यापक भर्ती का UP Teacher Syllabus 2021 सिलेबस की जानकारी नीचे हम दे रहे हैं। अब तक जारी हुए सभी सिलेबस  यूपी अध्यापक भर्ती से संबंधित  दिया जा रहा है।  UP Teacher Syllabus in Hindi आप सभी आवेदनकर्ता हिंदी भाषा में पढ़ सकते हैं। उत्तर प्रदेश में UP Teacher के जितने भी पाठ्यक्रम घोषित हुए हैं वह यहां पर दिया जा रहा है। UP Teacher Syllabus 2021 के बारे में बताया गया है।

UP Junior Teacher Syllabus & Exam Pattern 2021 in Hindi
UP Junior Teacher Syllabus & Exam Pattern 2021 in Hindi

UP Aided JH School Exam Pattern and Selection Process जानना आपके लिए बहुत महत्वपूर्ण है। एग्जाम का पैटर्न और सिलेक्शन प्रोसेस क्या है?  यहाँ आपको परीक्षा क्रैक करने के लिए कुछ टिप्स भी इस आर्टिकल में दिए गए हैं। दोस्तों जैसा कि मालूम है कि उत्तर प्रदेश में आवास की मान्यता प्राप्त जूनियर हाई स्कूल की यह भर्ती काफी लंबे समय के बाद आई है। परीक्षा के लिए बहुत ही कम समय बचा हुआ है आप इस आर्टिकल को पढ़कर अपने समय का सहयोग उपयोग कर सकते हैं पूरी बात इस आर्टिकल में बताया गया है।

अवश्य पढ़ें:

Contents

UP Junior Teacher Vacancy Details

उत्तर प्रदेश उच्च शिक्षा सेवा आयोग Uttar Pradesh High Education Service Commissionउत्तर प्रदेश एडेड जूनियर भर्ती 2021 UP Aided Junior High School 
टीचर भर्ती के लिए कुल कितना पद है? How many postएडेड जूनियर हाई स्कूल में शिक्षक के कुल 1894 पद है।
परीक्षा की तिथि Examination Date11 अप्रैल 2021
परीक्षा कैसे होगी? Examination modeपरीक्षा ऑफलाइन मल्टीपल यानी बहुविकल्पी प्रकार का प्रकार का Offline multiple choice written test
आधिकारिक वेबसाइट official websitehttp://site.uphesc.org/en

बहुप्रतीक्षित जूनियर ऐडेड कॉलेज की भर्ती वर्षों बाद उत्तर प्रदेश में आई है। इस भर्ती की तैयारी करने वाले कैंडिडेट के लिए  रिक्रूटमेंट बहुत ही महत्वपूर्ण है क्योंकि सरकारी नौकरी में मिलने वाला सम्मान और सैलरी सबसे अधिक होती है। UP Aided Junior High School Teacher भर्ती के परीक्षा पैटर्न के बारे में नीचे बताया जा रहा है पहले उसे जान ले।

यूपी जूनियर भर्ती का परीक्षा पैटर्न (JH School Exam Pattern and Selection Process UP 2021)

भर्ती से संबंधित फैक्ट फाइल

  • UP Adhyapak Bharti syllabus 2021, उत्तर प्रदेश शिक्षा विभाग (UP Government education department)  के तहत होने वाली भर्ती  यूपी  अध्यापक भर्ती का  पैटर्न, उत्तर प्रदेश के सरकारी मान्यता प्राप्त जूनियर स्कूल जो सरकार द्वारा वित्त पोषित हैं उनमें कक्षा 6, 7, 8 के अलग-अलग विषयों के टीचर की आवश्यकता इस समय है।
  • इसलिए वैकेंसी जूनियर टीचर वैकेंसी 2021 आई है। इसके साथ ही प्रधानाचार्य की भर्ती भी आयोजित होगी।
  • साथियों आपने जूनियर एडिट कॉलेज में सरकारी टीचर की भर्ती का फॉर्म भर दिया होगा, आज हम परीक्षा पैटर्न और इसके सिलेबस के बारे में चर्चा करने जा रहे हैं।
  • अक्सर देखा गया है कि बहुत से कैंडिडेट फॉर्म तो भर देते लेकिन उन्हें सिलेबस नहीं मालूम होता जिस कारण से अच्छे से तैयारी नहीं कर पाते हैं। आपको बता दें कि यह भर्ती लिखित परीक्षा के अलावा आपके शैक्षिक प्रमाण पत्र के अधिभार के अनुसार आपकी पूरी मेरिट मेरिट लिखित परीक्षा और आपके शैक्षिक प्रमाण पत्र हाई स्कूल इंटर बीए और प्रशिक्षण प्रमाण पत्र के अंकों के वेटेज के अनुसार बनेगी।

परीक्षा प्रारूप जूनियर एडेड स्कूल की भर्ती (JH School Exam Pattern and Selection Process UP)

जूनियर एडेड स्कूल में (JH School Exam Pattern)  अध्यापक भर्ती के लिए एक और प्रधानाचार्य की भर्ती के लिए एग्जामिनेशन पैटर्न में दो पेपर होगा।

  • यह परीक्षा  ढाई घंटे की अधिकतम 150 अंकों का होगा। इसमें कुल 150 प्रश्न बहुविकल्पी प्रकार के पूछे जाएंगे।
  • चयन लिखित परीक्षा और एजुकेशनल रिकॉर्ड जैसे हाईस्कूल, इंटर, बीए और शिक्षक प्रशिक्षण डिग्री या डिप्लोमा जैसे बीएड, डीएलएड, बीटीसी के अंकों के वेटेज (weight age) के आधार पर।

सहायक अध्यापक के लिए एग्जाम पैटर्न एक नजर में देखें | UP Junior High School Teacher Exam Pattern

विषय subjectप्रश्न संख्या और अंक
सभी पदों के लिए अनिवार्य प्रश्न पत्र सामान्य ज्ञान (General Knowledge)50 प्रश्न 50 अंक
वैकल्पिक विषय (, , में कोई एक)   (क) – संस्कृत/ हिंदी/ अंग्रेजी में से कोई एक, भाषा शिक्षक के लिए   (ख) – सामाजिक अध्ययन – सामाजिक अध्ययन शिक्षक के लिए   (ग) – विज्ञान एवं गणित- विज्ञान/ गणित शिक्षक के लिए100 प्रश्न पूछे जाएंगे 100 के
कुल 150 प्रश्नकुल 150 अंक
परीक्षा का माध्यमभाषा (भाषा का प्रश्न उसी भाषा में) को छोड़कर सभी का हिंदी और इंग्लिश
सभी प्रश्न बहुविकल्पी प्रकार केढाई घंटे की परीक्षा नेगेटिव मार्किंग नहीं

जूनियर अध्यापकों के चयन के लिए लिखित परीक्षा का पैटर्न | (JH School Exam Pattern and Selection Process UP)

पहला प्रश्न पत्र

  • सामान्य ज्ञान के 50 क्वेश्चन पूछे जाएंगे। हर क्वेश्चन 1 अंक का होगा।
  • प्रश्न  बहुविकल्पी प्रकार (Examination Pattern) का होगा।
  • सभी अभ्यर्थियों के लिए पहले प्रश्न पत्र के सामान्य ज्ञान वाला सेक्शन करना अनिवार्य होगा।
  •  यानी सभी को सामान्य ज्ञान के 50 क्वेश्चन हल करना होगा।

100 अंकों का वैकल्पिक विषय (Optional Subject)

जूनियर एडेड स्कूलों में सहायक टीचर के लिए वैकल्पिक विषय के रूप में 100 अंको का 100 प्रश्न पूछा जाएगा जिसे निम्नलिखित अनुसार उन्हें अटेंप्ट करना है-

  • 100 अंको का वैकल्पिक विषय (optional subjects) होगा। अपने स्नातक विषय के अनुसार वैकल्पिक विषय में किसी एक विषय पर आपको 100 क्वेश्चंस का उत्तर देना है।

वैकल्पिक विषय भाषा विषयों के लिए (optional subjects language)

  • हाई स्कूल में भाषा विषय पढ़ाने वाले तीन तरह के टीचर रखे जाते हैं। जिन्होंने संस्कृत भाषा से स्नातक किया है और इसी भाषा से जूनियर स्कूल में पढ़ाना चाहते हैं, यानी फॉर्म में इसी का ऑप्शन भरा है तो वह संस्कृत भाषा के 100 प्रश्न करेंगे।
  • अगर आपने हिंदी भाषा से ग्रेजुएशन किया है और भाषा शिक्षक के रूप में जूनियर स्कूल में हिंदी पढ़ाने का चयन फॉर्म में किया है तो आपको केवल हिंदी भाषा के 100 क्वेश्चन आपको करना है।
  • इसके अलावा जूनियर हाई स्कूल की भर्ती के लिए आपने अंग्रेजी भाषा में पढ़ाने का चयन किया है। यानी आपने फॉर्म में अंग्रेजी भाषा पढ़ाने का विकल्प भर आया आपके ग्रेजुएशन में अंग्रेजी विषय है तो आप अंग्रेजी भाषा के 100 प्रश्न हल करेंगे।
  • सामाजिक विज्ञान विषय (Social Science Subjects) जूनियर हाई स्कूल में पढ़ाने वाले शिक्षक सामाजिक विज्ञान विषय के 100 क्वेश्चंस को अटेंप्ट करना है। अगर आपने स्नातक स्तर पर इतिहास पॉलिटिकल साइंस भूगोल अर्थशास्त्र इन विषयों से परीक्षा पास की है, तो आप सामाजिक विज्ञान वाले कैटेगरी में आएंगे और आपको केवल सामाजिक विज्ञान के 100 प्रश्न को सॉल्व करना है।
  • इसी तरह से विज्ञान व गणित विषयों  के टीचर के रूप में आप जूनियर स्कूल में बच्चे को पढ़ाना चाहते हैं तो अगर आपने स्नातक विज्ञान से किया है तो आप विज्ञान/गणित यह दोनों मिलाकर 100 क्वेश्चन पूछे जाएंगे आपको उत्तर देने हैं।

नोट- UP Aided Sarkari School में जूनियर टीचर बनने के लिए आपको सामान्य ज्ञान के 50 प्रश्न सभी कैटेगरी वालों को करना होगा और फिर इन पांच कैटेगरी में से किसी एक कैटेगरी से फॉर्म भरा उस कैटेगरी के प्रश्न 100 नंबर के करना होगा इस तरह मिलाकर कुल डेढ़ सौ अंकों का प्रश्नपत्र आपको ढाई घंटे में हल करना होगा।

जो UP Junior High School Principal की भर्ती के लिए भी आवेदन किया गया है। उन्हें 50 अंकों का अतिरिक्त प्रश्न जो स्कूल के प्रबंधन और स्कूल व्यवस्था पर आधारित होगा जो प्रधानाचार्य के लिए है उसे भी उन्हें करना होगा।

इस परीक्षा का उद्देश्य

जूनियर एडेड स्कूल में शिक्षकों की कैटेगरी करने का उद्देश्य

 भाषा विषयों के इसे विशेष एक शिक्षक चुनना उद्देश है, इसलिए भाषा के विषय के तीन कैटेगरी के टीचर चुने जाएंगे, जो अपने अपने भाषा पढ़ाएंगे।

  •  हिंदी, Hindi
  • संस्कृत Sanskrit
  • अंग्रेजी। English

 इसके अलावा

  • सामाजिक विज्ञान social science
  •  विज्ञान/गणित के शिक्षक। Science and mathematics

अब आपको परीक्षा पैटर्न समझ में आ गया होगा। Examination Pattern of Junior Added teacher and Principal Recruitment.


यूपी जूनियर की भर्ती 2021 के बारे में | UP Junior Recruitment 2021

अब आगे बढ़ते हैं और बताते हैं कि आखिर कैटेगरी क्यों बनाया गया है।

  • आपको बता दें कि प्राइमरी तक बीटीसी या DLEd किया हुआ, कोई भी विषय पढ़ा सकता है लेकिन जूनियर कक्षा में यानी कक्षा 6, 7, 8 और हाई स्कूल की कक्षा 9 व 10 में वही टीचर पढ़ा सकता है, जो ग्रेजुएशन में उस सब्जेक्ट को कंबीनेशन के साथ पढ़ा है। अपना अध्यापक शिक्षा प्रशिक्षण उसी भाषा या विषय में ट्रेनिंग प्राप्त किया हो।
  • क्योंकि माना जाता है कि कक्षा 6 के बाद हर सब्जेक्ट के विषय विशेषज्ञ होते हैं। हर कोई हर सब्जेक्ट गुणवत्तापरक स्तर पर नहीं पढ़ा सकता है‌।  कठिनाई का स्तर बढ़ जाता है।
  •  लेकिन आपने देखा होगा प्राइवेट स्कूलों में हर कोई हर विषय पढ़ाने लगता है लेकिन नई शिक्षा नीति 2020 के तहत अब इन नियमों वह निरदेशों पर सरकार द्वारा मॉनिटरिंग करके ध्यान दिया जाएगा क्योंकि बच्चों के भविष्य और पढ़ाई नई शिक्षा नीति गंभीर है।

UP Junior High School Principal के लिए दूसरा प्रश्न पत्र होगा जिसमें 50 नंबरों का स्कूल प्रबंधन से संबंधित प्रश्न पूछा जाएगा क्योंकि प्रधानाचार्य को स्कूल का मैनेजमेंट ही करना है और उसकी योग्यता एक टीचर के बराबर भी होनी चाहिए।

गलत उत्तर (No Any Negative Marking) के कोई भी अंक नहीं काटे जाएंगे। यानी कि नेगेटिव मार्किंग इस परीक्षा में नहीं है इसलिए आप पूरा प्रश्न अवश्य कीजिएगा।

UP Junior Teacher Syllabus उत्तर प्रदेश जूनियर भर्ती का पाठ्यक्रम

दोस्तों जूनियर भर्ती का पाठ्यक्रम  (syllabus of junior recruitment 202) घोषित कर दिया गया है। परीक्षा पैटर्न (examination pattern) के बारे में ऊपर बताया गया है अब आपको सारी बातें क्लियर हो गई होंगी। यहां पर हम पाठ्यक्रम (syllabus) दे रहे हैं जो उत्तर प्रदेश शिक्षा विभाग ने जूनियर भर्ती 2021 के अध्यापक और प्रधानाचार्य भर्ती (principal recruitment  junior school in UP) लिए जारी किया है।

अध्यापक भर्ती और प्रधानाचार्य भर्ती के लिए Cut Off

जूनियर एडेड स्कूल में अध्यापक की भर्ती के लिए होने वाली परीक्षा के कुल डेढ़ सौ अंकों में से 97 अंक cut off लाना जरूरी है। यानी कि इस परीक्षा में 65% अंक आने वाले अभ्यर्थियों मेरिट लिस्ट के लिए विचार किया जाएगा। क्योंकि इसमें अभी शैक्षिक योग्यता के अधिभार से  तौर पर जोड़े जाएंगे। फाइनल मेरिट (final merit) योग्यता के अनुसार उपलब्ध सीटों की उपलब्धता के अनुसार बनेंगे।

प्रधानाचार्य के लिए  लिखित परीक्षा written test में कुल पूर्णांक 200 में से 120 अंक प्राप्त कर आना जरूरी है यानी परीक्षा में 65% अंक लाने वाला अभ्यर्थी ही प्रधानाचार्य के पोस्ट (the principal post added Junior School) के लिए क्वालीफाई माना जाएगा। लेकिन उसके शैक्षिक प्रमाणपत्रों के अंको का अधिकार भी जोड़ा जाएगा और फाइनल मेरिट बनाई जाएगी।

इस फाइनल मेरिट में जो सबसे अधिक योग्यता वाला अभ्यार्थी होगा, उसे पहले नंबर पर रखा जाएगा और इस तरह से बची हुई सीटें के अनुसार उसे कम योग्यता के क्रम के अनुसार कैंडिडेट को सीट उपलब्धता तक मेरिट लिस्ट बनाई जाएगी। जो मेरिट लिस्ट में अपना स्थान बनाते हैं उन्हें प्रधानाचार्य का पोस्ट मिल जाता है। ध्यान रखिए मेरिट लिस्ट बनाते समय हर वर्ग की आरक्षण को ध्यान में भी रखा जाएगा।

यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल टीचर सिलेबस  2021 (UP Aided Junior High School Syllabus in Hindi 2021)

सामान्य ज्ञान general knowledge syllabus

 50 प्रश्न पूछे जाएंगे 50 अंकों के टीचर और प्रधानाचार्य दोनों के लिए यह सेक्शन करना अनिवार्य होगा इस सेक्शन का माध्यम हिंदी और अंग्रेजी भाषा होगा।


खंड सिलेबस वैकल्पिक विषय (optional subjects syllabus)

हिंदी अंग्रेजी और संस्कृत में से किसी एक सेक्शन के कुल 100 प्रश्नों को हल करना होगा यह सभी के लिए वैकल्पिक होगा। भाषा का चयन करने वाले इन 3 भाषा के विषयों में से किसी एक विषय का चयन करेंगे। परीक्षा की कठिनाई का स्तर सिलेबस का स्नातक स्तर का होगा।

खण्ड ‘क ’

हिंदी

  • हिंदी साहित्य एवं भाषा का इतिहास
  • व्याकरण
  • अपठित गद्यांश एवं पद्यांश
  • प्रमुख लेखकों/ कवियों का सामान्य परिचय एक उनकी रचनाएं

अंग्रेजी

  • History of English literature and language
  • Grammar
  • Unseen passage
  • Writers, general introduction and their work

संस्कृत

  • संस्कृत भाषा एवं साहित्य के इतिहास की जानकारी
  •  व्याकरण
  •  अपठित गद्यांश एवं पद्यांश
  •  प्रमुख लेखकों/ कवियों का सामान्य परिचय एक उनकी कृतियां

खण्ड

सामाजिक अध्ययन Social Study

अगर जिन्होंने खंड क भाषा के विषयों को नहीं चुना है, तो वे इसे चुन सकते हैं यह भी वैकल्पिक है। 100 प्रश्न पूछे जाएंगे या वैकल्पिक है।

  • इतिहास जानने के स्रोत
  • पाषाण कालीन संस्कृति, ताम्र पाषाण संस्कृति, वैदिक संस्कृति
  • छठी शताब्दी ई. पू.  का भारत
  • भारत के प्रारंभिक राज्य
  • भारत में मौर्य समाज की स्थापना
  • मौर्यतरकालीन भारत, गुप्त काल,राजपूत कालीन भारत, पुष्यभूति वंश, दक्षिण भारत के राज्य
  • छठी शताब्दी का धार्मिक तथा सामाजिक विकास
  • इस्लाम का भारत में आगमन, दिल्ली सल्तनत की स्थापना, विस्तार एवं विघटन
  • मुगल साम्राज्य, संस्कृति, पतन
  • यूरोपीय शक्तियों का भारत में आगमन एवं अंग्रेजी राज्य की स्थापना
  • भारत में कंपनी राज्य का विस्तार
  • भारत में नवजागरण, भारत में राष्ट्रवाद का उदय
  • स्वाधीनता आंदोलन, स्वतंत्रता प्राप्ति, भारत विभाजन
  • स्वतंत्र भारत की चुनौतियाँ
  • हम और हमारा समाज
  • ग्रामीण एवं नगरीय समाज एवं रहन सहन, ग्रामीण एवं नगरीय स्वशासन
  • जिला प्रशासन
  • हमारा संविधान, केंद्रीय व राज्य शासन व्यवस्था
  • भारत में लोकतंत्र
  • देश की सुरक्षा एवं विदेश नीति, वैश्विक समुदाय एवं भारत
  • नागरिक सुरक्षा, यातायात सुरक्षा
  • दिव्यांगता
  • सौर मंडल में पृथ्वी, ग्लोब- पृथ्वी पर स्थानों का निर्धारण, पृथ्वी की गतियां
  • मानचित्र, पृथ्वी के चार परिमंडल, स्थल मंडल- पृथ्वी की संरचना,पृथ्वी के प्रमुख स्थल रूप
  • विश्व में भारत, भारत का भौतिक स्वरूप, मृदा, उर्वरक का प्रयोग एवं महत्व, वनस्पति एवं वन्य जीव, भारत की जलवायु, भारत के आर्थिक संसाधन, यातायात, व्यापार एवं संचार
  • उत्तर प्रदेश- भारत में स्थान, राजनीतिक विभाग, जलवायु, मृदा, वनस्पति एवं वन्य जीव, कृषि खनिज उद्योग धंधे, जनसंख्या एवं नगरीकरण
  • वायुमंडल एवं जल मंडल
  • संसार के प्रमुख प्राकृतिक प्रदेश एवं जनजीवन
  • खनिज संसाधन, उद्योग धंधे
  • भारतीय अर्थव्यवस्था एवं उसकी चुनौतियाँ
  • पर्यावरण, प्राकृतिक संसाधन एवं उनकी उपयोगिता
  • प्रकृति संतुलन,संसाधनों का  उपयोग
  • जनसंख्या वृद्धि का पर्यावरण पर प्रभाव, पर्यावरण प्रदूषण
  • अपशिष्ट प्रबंधन, आपदाएं, पर्यावरणविद, पर्यावरण के क्षेत्र में पुरस्कार, पर्यावरण दिवस, पर्यावरण कैलेंडर

गणित

वैकल्पिक विषय syllabus गणित के टीचर के लिए किसे चुनना होगा।

  • प्राकृतिक संख्या, पूर्ण संख्याएं, परिमेय संख्याएं
  • पूर्णांक , कोष्टक लघुत्तम समापवर्त्य एवं महत्तम समापवर्तक
  • वर्गमूल, घनमूल, सर्वसमिकाएं
  • बीज गणित, अवधारणा-  चर संख्याएं, अचर संख्याएं,चर संख्याएं की घात
  • बीजिय व्यंजक का जोड़, गुड़ा एवं भाग,बीजिय व्यंजक  के पदे पदों के गुणांक, सजातीय एवं विजातीय पद, व्यंजक की डिग्री,एक, दो एवं  त्रिपदीए व्यंजक की अवधारणा
  • युगपत समीकरण, वर्ग समीकरण, रेखीय समीकरण
  • समांतर रेखाएं, चतुर्भुज की रचनाएं, त्रिभुज
  • वृत्त और चक्रीय चतुर्भुज, वृत्त की स्पर्श रेखाएं
  • अनुपात, समानुपात, प्रतिशतता, लाभ हानि, साधारण ब्याज, चक्रवर्ती ब्याज
  • सांख्यिकी-आंकड़ों का वर्गीकरण, पिक्टोग्राफ, माध्य, माधिका एवं बहुलक, बारंबारता
  • पाई एवं दंड चार्ट, अवर्गीकृत आंकड़ों का चित्र
  • संभावना  ग्राफ , दंड, आरेख तथा मिश्रित दंड आरेख
  • कार्तीय तल, क्षेत्रमिति,  घातांक, त्रिकोणमिति

गणित की तैयारी कैसे करे और कहा से शुरू करे ? जाने पूरी जानकारी हिंदी में

विज्ञान

विज्ञान विषय के लिए पढ़ाने वाले टीचर का optional subject  विज्ञान चुनना होगा। 100 को क्या प्रश्न आएगा। (Syllabus of science subjects)

  • दैनिक जीवन में विज्ञान, महत्वपूर्ण खोज, महत्त्व, मानव विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी
  • रेशे एवं वस्त्र, रेशों से वस्त्रों तक
  • सजीव, निर्जीव पदार्थ-  जीव जगत,  सजीवों का वर्गीकरण, जंतु एवं वनस्पति के आधार पर पौधों का वर्गीकरण  एवं जंतुओं का वर्गीकरण, जीवो में अनुकूलन, जंतुओं एवं पौधों में परिवर्तन
  • जंतु की संरचना व कार्य
  • सूक्ष्मजीव एवं उनका वर्गीकरण
  • कोशिका से अंग तंत्र तक
  • किशोरावस्था, विकलांगता
  • भोजन, स्वास्थ्य, स्वच्छता एवं रोग, फसल उत्पादन, नाइट्रोजन चक्र
  • जंतुओं में पोषण, पौधों में पोषण,  जनन, लाभदायक पौधे
  • जीवो में श्वसन, उत्सर्जन, लाभदायक जंतु
  • मापन. विद्युत धारा. चुंबकत्व. गति. बल एवं यंत्र
  • ऊर्जा, ध्वनि, स्थिर विद्युत, प्रकाश  एवं प्रकाश  यंत्र
  • वायु-  गुण, संघटन, आवश्यकता, उपयोगिता, ओजोन परत, हरित गृह प्रभाव
  • जल- आवश्यकता, उपयोगिता, स्रोत, गुण,प्रदूषण, जल संरक्षण
  •  पदार्थ, पदार्थों का समूह, पदार्थों का पृथक्करण, पदार्थों की संरचना एवं प्रकृति
  •  अम्ल क्षार एवं लवण
  •  ऊष्मा एवं ताप
  •  मानव निर्मित वस्तुएं, प्लास्टिक, कांच, साबुन
  •  खनिज एवं धातु. कार्बन एवं उसके यौगिक
  •  ऊर्जा के वैकल्पिक स्रोत
  •  आवर्त सारणी, रक्त की संरचना, वर्ग एवं रक्त के आदान-प्रदान में  सावधानियां

द्वितीय प्रश्नपत्र  (केवल प्रधानाध्यापक के लिए) (syllabus for UP junior address principal)

द्वितीय प्रश्न पत्र 50 प्रश्न का होगा और इसमें 50 अंक प्राप्त होगा इस तरह से जूनियर एडेड कॉलेज के प्रधानाचार्य के पद के लिए अगर आपने भरा है तो यह सेकंड पेपर आपको करना होगा (syllabus for UP junior address principal)

यानी की फर्स्ट पेपर के समान अध्ययन और वैकल्पिक विषय के 100 प्रश्न करने के साथ 50 अंकों का यह स्कूल मैनेजमेंट का प्रश्न भी करना होगा।

टीचर सिलेबस का पीडीएफ फाइल डाउनलोड करने का लिंक Up Teacher Syllabus PDF File Download

शैक्षिक प्रबंधन एवं प्रशासन (केवल प्रधानाध्यापक हेतु)

  • विद्यालय प्रबंधन का अर्थ, आवश्यकता एवं महत्व
  • विद्यालय प्रबंधन के क्षेत्र
  • भौतिक संसाधनों का प्रबंधन( विद्यालय भवन, फर्नीचर, शैक्षिक उपकरण,  साज सज्जा , पेयजल, शौचालय
  • मानवीय संसाधनों का प्रबंधन( शिक्षक, बच्चे, समुदाय ग्राम शिक्षा समिति, विद्यालय प्रबंधन समिति, शिक्षक अभिभावक संघ,  मात् शिक्षक संघ, महिला प्रेरक दल)
  • वित्तीय प्रबंधन( विद्यालय अनुदान,  टी. एल. एम  ग्रांट, विद्यालय को समुदाय से प्राप्त धन, विद्यालय की संपत्ति से अर्जित धन, ग्राम पंचायत निधि से/ जनप्रतिनिधियों से प्राप्त अनुदान)
  • शैक्षिक प्रबंधन ( कक्षा- कक्ष प्रबंधन, शिक्षण अधिगम सामग्री प्रबंधन, लर्निंग कॉर्नर एवं पुस्तकालय प्रबंधन)
  • समय प्रबंधन: समय सारणी का निर्माण  एवं प्रयोग
  • विद्यालय प्रबंधन में विभिन्न अभीकर्मियों की भूमिका
  • प्रारंभिक शिक्षा के विकास में संलग्न  विभिन्न अभिकरण एवं उनकी भूमिका
  • राष्ट्रीय/  राज्य/ जिला/ स्थानीय स्तर पर कार्य करने वाला अभिकरण
  • प्राथमिक शिक्षा का आधारभूत ढांचा
  • आपदा प्रबंधन

 UP Teacher Exam Preparation Tips

UP Aided Junior High School सहायक अध्यापक का प्रधानाचार्य बनने के लिए इस परीक्षा का मेरिट लिस्ट में आपको स्थान बनाना पड़ेगा।  परीक्षा की तैयारी कैसे करें उसके बारे में यहां नीचे  टिप्स दिया गया है वह आपके लिए बहुत ही कारगर होगा,  examination preparation tips-

सामान्य ज्ञान (General Knowledge) के लिए किसी एक पुस्तक से अध्ययन करना शुरू कर दें, सामान्य ज्ञान के अंतर्गत करंट अफेयर और जनरल नॉलेज के प्रश्न पूछे जाते हैं, इसलिए आपको एक बढ़िया सी किताब की जरूरत है, जिससे आप लगातार पढ़कर अपने जनरल नॉलेज (knowledge) को बेहतर बना सकते हैं। क्योंकि 50 अंकों का अनिवार्य पेपर जनरल नॉलेज से संबंधित पूछा जाता है।

General knowledge और Current Affairs के लिए एजुकेशनल कंपटीशन मैगजीन और अखबार पिछले 2 महीने का जरूर पढ़ ले।

ऑप्शनल सब्जेक्ट (optional subject) की पढ़ाई के लिए टिप्स

ऑप्शनल सब्जेक्ट हिंदी, इंग्लिश, संस्कृत, सोशल साइंस, मैथ्स / साइंस की तैयारी के लिए सिलेबस के अनुसार मानक पुस्तक से पढ़ाई शुरू करें क्योंकि फंडामेंटल क्लियर होने पर multiple choice type  के क्वेश्चन को आप सवाल कर सकते हैं।  उत्तर प्रदेश की इस परीक्षा में ज्यादातर पिछले कंपटीशन पूछे गए प्रश्नों को ही सब्जेक्ट के अनुसार रिपीट करता है। तो इस तरह के सिलेबस वाली कॉम्पिटेटिव एग्जामिनेशन के पिछले प्रश्न पत्र का अध्ययन इसलिए करना जरूरी है क्योंकि उसमें हिंदी अंग्रेजी संस्कृत सोशल साइंस और विज्ञान के कोई चुनिंदा प्रश्न होते हैं जो बार-बार हर परीक्षा में पूछे जाते हैं उन्हें इकट्ठा करके इस तरह के प्रश्नों को जानना बहुत जरूरी है।

 प्रधानाचार्य की पोस्ट के लिए पूछे जाने वाला स्कूल प्रबंधन से संबंधित प्रश्न शिक्षण प्रशिक्षण की किताब जो भी एडीडीएलएड में चलती है उससे संबंधित टॉपिक को आप पढ़ सकते हैं। सिलेबस के अकॉर्डिंग कई किताब गाइड बाजार में उपलब्ध है उनमें से सबसे बेहतर जिनमें विश्वसनीय जानकारी है उससे अध्ययन करना शुरू कर दीजिए। परीक्षा का समय कम है और सिलेबस बहुत अधिक है इसलिए जो भी पढ़ें वह परीक्षा के प्रश्न पत्रों और सिलेबस के अकॉर्डिंग पढ़ें।

Time table बना कर पढ़ें

परीक्षा की तैयारी के लिए सबसे बड़ी जरूरी बात है कि समय का प्रबंधन करना। Timetable बना कर हर विषय को पूरा समय देख कर पढ़ाई करें।

अक्सर देखा गया इस भर्ती के परीक्षा के लिए फॉर्म भरा होगा, आप में बहुत से टीचर हैं, जो कहीं प्राइवेट में काम करते हैं या टीचिंग जॉब करते हैं।

उनके लिए तैयारी करना और समय का प्रबंधन करना एक बड़ा मुश्किल काम हो सकता है लेकिन अगर आपको इस परीक्षा को merit list आना चाहते हैं तो (crack the examination)  निश्चित तौर पर आपको अच्छी स्टडी के लिए समय निकालना होगा। अगर आप अपनी नौकरी को कुछ दिनों के लिए ब्रेक दे सकते हैं तो यह अच्छा मौका है, कुछ टेंशन फ्री होकर आपकी तैयारी बेहतर हो जाएगी।

आप उन लोगों से बेहतर जूनियर ऐडेड स्कूल टीचर भर्ती की तैयारी कर लेंगे जो प्राइवेट नौकरी रहते हुए भी समय के कारण ठीक से तैयारी नहीं कर ले पा रहे हैं। याद रखिए जब आप सिलेबस को अधिक से अधिक कवर करेंगे और पूरे सिलेबस को पढ़ लेंगे तो निश्चित तौर पर आपके विकल्प प्रश्न सबसे अधिक सही होंगे और मेरिट लिस्ट में आपका नाम जरूर आएगा इसलिए टाइम टेबल की रणनीति बना कम से कम 8 से 10 घंटा पढ़ने के लिए हर दिन निकाले।

UP Aided Junior High School Syllabus in Hindi 2021- General FAQs

यूपी जूनियर ऐडेड स्कूल में टीचर भर्ती का सिलेबस क्या है?

सामान्य ज्ञान, हिंदी, अंग्रेजी, संस्कृत, विज्ञान स्कूल प्लेसमेंट से रिलेटेड प्रश्न पूछा जाता है। अधिक जानकारी के लिए सिलेबस पैटर्न और क्वेश्चन पूछने के पैटर्न को समझ ले।  क्योंकि इसमें अलग-अलग सिलेबस यानी कि से दिया हुआ है। यूपी जूनियर ऐडेड स्कूल में टीचर के पूरे सिलेबस को समझने के लिए इस आर्टिकल को पढ़े।

यूपी जूनियर ऐडेड स्कूल में के परीक्षा का माध्यम क्या है?

दोस्तों भाषा के विषय हिंदी संस्कृत और अंग्रेजी यह अपनी भाषा के माध्यम ही पूछे जाते हैं लेकिन सामान्य ज्ञान और विज्ञान गणित/समाजिक विज्ञान से संबंधित प्रश्न दो भाषाओं में हिंदी और अंग्रेजी में उपलब्ध होगा।

यूपी एडेड जूनियर हाईस्कूल टीचर भर्ती परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग होगी?

कोई नेगेटिव मार्किंग नहीं है आप पूरे प्रश्न को करें इससे आपको फायदा होगा।

यूपीटेट जूनियर हाई स्कूल टीचर भर्ती और प्रिंसिपल भर्ती में कितने प्रश्न पूछे जाएंगे?

यूपीटेट जूनियर हाई स्कूल टीचर भर्ती के लिए कुल 150 प्रश्न डेढ़ सौ अंकों का पूछा जाएगा जबकि प्रिंसिपल भर्ती में 200 प्रश्न पूछा जाएगा यह 200 अंकों का होगा।

up added junior high School teacher recruitment 2021 की लिखित परीक्षा में क्वालीफाई करने के लिए कुल कितने अंक होना चाहिए?

Junior added School teacher टीचर के पद (the post of teacher) लिए कम से कम 65% अंक यानी की कुल पूर्णांक 150 में से 97 अंक आना चाहिए तभी उसके शैक्षिक अंको के अधिकार जोड़कर उसकी कुल फाइनल मेरिट (selection final merit) बनाई जाएगी।
जबकि प्रधानाध्यापक के पद (junior added the post of principal)  के लिए लिखित परीक्षा में कुल 65% अंक यानी अधिकतम अंक  200 में से 120 अंक आना जरूरी है तभी उनके शैक्षिक प्रमाणपत्रों के अंको का अधिकार मिलाकर फाइनल मेरिट बनाई जाएगी।
सीटों के खाली स्थानों को ध्यान में रखकर मेरिट ऊपर से नीचे डाउन की जाएगी और इसमें जो सेलेक्ट हो जाएगा उसे टीचर का पद दे दिया जाएगा अगर वह प्रधानाचार्य के पद के लिए सेलेक्ट होता है तो उसे प्रधानाचार्य का पद दिया जाएगा।


आप हमसे Facebook Page , Twitter or Instagram से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें:

Leave A Reply

Your email address will not be published.