Pariksha par charcha 2021: परीक्षा पर चर्चा कहा प्रधानमंत्री ने परीक्षाओं से डरने की जरूरत नहीं /10 परीक्षा चर्चा 2021 PM Modi Quotation

दोस्तों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने परीक्षा पर चर्चा करते हुए छात्रों से बातें की। उन्होंने बच्चों से कहा कि परीक्षाओं से डरने की जरूरत नहीं है। Pariksha par charcha 2021 यह चौथा संस्करण इस साल छात्रों को पढ़ाई के टिप्स देने वाला प्रधानमंत्री की तरफ से था। परीक्षा पे चर्चा के दौरान प्रधानमंत्री ने कुछ खास बातें कहीं से 10 परीक्षा चर्चा 2021 PM quotation के नाम से यहां पर प्रस्तुत कर रहे हैं।

दोस्तों परीक्षा पर चर्चा 2021 में पीएम के कोटेशन के माध्यम से हम उनके बताए हुए प्रमुख बातों को यहां पर प्रस्तुत कर रहे हैं। प्रधानमंत्री ने परीक्षा पर चर्चा कार्यक्रम के दौरान छात्रों को परीक्षा और पढ़ाई के प्रति पुरानी धारणा को तोड़ते हुए, नए तरीके से सोचने की बात कही।

छात्रों अभिभावकों यानी पैरंट्स अपने बच्चों पर पढ़ने के लिए अधिक प्रेशर बनाते हैं इस बात का भी जिक्र और पढ़ने के सही माहौल के बारे में अभिभावकों को भी संबोधित किया। जो सोया मौका था परीक्षा चर्चा 2021 का 7 अप्रैल को 7:00 बजे छात्रों से बातचीत की और उन्हें पढ़ाई से संबंधित सीख दी गई धारणाओं को बदलने की बात कही। आइए जाने परीक्ष चर्चा 2021 में मोदी जी ने छात्रों से क्या बातचीत सही सारी बात हम यहां प्रस्तुत कर रहे हैैं। आजकल को पूरा पढ़ें और अपनी राय भी कमेंट में जरूर लिखें।

बोर्ड परीक्षा का डर क्यों?

दोस्तों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बच्चों को सीख लिया कि परीक्षाओं से डरने की अब जरूरत नहीं है। हमारे समाज में बोर्ड परीक्षा को लेकर अलग-अलग तरह की धारणाएं हैं। परीक्षा चर्चा 2021 में नरेंद्र मोदी जी ने इसी डर के बारे में भी जिक्र किया कि पढ़ाई के बाद एग्जामिनेशन एक तरफ से एक प्रक्रिया है।

Pariksha par charcha 2021
Pariksha par charcha 2021

पूरे परीक्षा पे चर्चा 2021 के दौरान उन्होंने छात्रों के उनके सपने को पूरा करने की बात कही। अभिभावकों को सलाह दी कि उन्हें अपने बच्चे पर अपने सपने नहीं ठोकना चाहिए।

विश्लेषण

दोस्तों आपने भी अक्सर देखा होगा कि  पैरंट्स अपने बच्चों को अपने तरीके से कुछ बनाना चाहते जबकि हर बच्चे का अपना व्यक्तित्व सोच और रुचि होती है, उसी के अनुसार वहा अपना कैरियर चुनता है, ऐसे में अभिभावक को उसमें दखलंदाजी नहीं देना चाहिए क्योंकि करियर जिसे चुनना होता है वह अपनी रूचि और क्षमता के अनुसार अपना लक्ष्य निर्धारित करता है। अजय परीक्षा चर्चा 2021 पीएम कोटेशन के बारे में जाने और विश्लेषण करें

परीक्षा चर्चा 2021 PM Quotation

प्रधानमंत्री ने की अपील ‘Vocal for Local’ को बनाएं अपने जीवन का मंत्र

दोस्तों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने अपने संबोधन में छात्रों को जीवन ‘Vocal for Local’ का  मंत्र दिया और कहा कि आपको एक बड़े एग्जाम के लिए तैयार करना चाहता हूं, यह बड़ा एग्जाम हमें हंड्रेड प्रतिशत नंबर लेकर पास होना है उन्होंने बताया कि जीवन में ‘Vocal for Local’ का मंत्र अपनाना चाहिए।

Let us make ‘Vocal for Local’ our mantra for life.

जीवन की सफलता, विफलता का पैमाना अलग होता है : पीएम मोदी

 मोदी जी ने कहा कि जो छात्र पढ़ते हैं, वहा उनके जीवन की सफलता और विफलता का केवल एक पैमाना नहीं होता है। परीक्षा के अलावा उन्होंने बताया है कि जीवन में आप जो करेंगे वही आपकी सफलता और विफलता तय करता है। दोस्तों प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी का कहना था कि छात्रों को दबाव में रहकर पढ़ाई नहीं करना चाहिए।

What you study cannot be the only measure of success and failure in your life.

Whatever you do in life, they will determine your success and failure.

अभिभावकों को बच्चों के साथ उनकी जनरेशन की बातों में दिलचस्पी दिखाएं : पीएम मोदी

परीक्षा चर्चा 2021 का  कोटेशन है: प्रधानमंत्री ने पेरेंट्स को सलाह देते हुए कहा कि बच्चों के हाथों में भी दिलचस्पी दिखानी चाहिए। बच्चों के जनरेशन में आनंद के साथ शामिल होना चाहिए। दोस्तों नरेंद्र मोदी जी ने इस बात पर जोर दिया और कहा कि ऐसा करने से generation gap जो एक पीढ़ी से दूसरी पीढ़ी के बीच होता है। उन्होंने कहा कि माता-पिता और बच्चों का जीवन के प्रति नजरिया साधारण दृष्टिकोण में उस में अंतर होना स्वभाविक है लेकिन इस अंतर को दूर करने का प्रयास करना चाहिए।

Exam warriors की मदद लेना चाहिए : पीएम मोदी

प्रधानमंत्री ने परीक्षा पर चर्चा के दौरान छात्रों की एग्जामिनेशन के समय होने वाले टेंशन को घटाने के लिए अपनी एक पुस्तक का जिक्र यहां पर किया। उन्होंने सुझाव देते हुए कहा कि मोटिवेशनल पुस्तक एग्जाम वारियर की टिप्स की मदद ले। दोस्तों एग्जाम के समय होने वाले प्रेशर से विद्यार्थी घबरा जाता है और इससे बचने के लिए इस किताब में कई महत्वपूर्ण टिप्स दिए गए हैं। दोस्तों आपकी जानकारी के लिए बता दें कि अभी हाल ही में इस किताब की नई अपडेट वर्जन पब्लिश हुआ है जिसमें नए सुझाव और नए लर्निंग अपडेट के साथ यह पुस्तक मार्केट में उपलब्ध है।

चिंता को परीक्षा केंद्र के बहार चोर कर आएं

पीएम मोदी ने कहा कि सभी तरह के टेंशन को छोड़कर परीक्षा हॉल के अंदर जाना चाहिए। मोदी जी ने कहा कि अगर आपका मन अशांत रहेगा तो चिंता में आप डूबे रहेंगे तो संभावना होगा कि जैसे आप question paper देखेंगे सब कुछ भूल जाएंगे इसका सबसे अच्छा उपाय यह है कि आप अपनी tension को examination hall  के बाहर छोड़कर जाए।

All your tension must be left outside the examination hall.

सफलता का मंत्र

दोस्तों हमारे प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी ने छात्रों को सफलता का मंत्र दिया है तो आप भी इस मंत्र को याद रखें।

Pariksha pe charcha 2021 मैं नरेंद्र मोदी जी ने विद्यार्थियों को एक संदेश दिया है जिसे सफलता का मंत्र कहा जाता है। आपने बाद में उन्होंने कहा।

  1.  मेमोरी को शार्प करने के लिए आप इन्वॉल्व (Involve),
  2. इंटरनलाइज (internalize), एसोसिएट (associate)
  3. और विजुअलाइज (visualize) के फॉर्मूले पर आप चल सकते हैं। 

PMO India (@PMOIndia) April 7, 2021

अपने सपनों को पाने का संकल्प ये बहुत महत्वपूर्ण : पीएम मोदी

पीएम मोदी ने बड़ी महत्वपूर्ण बात कही कि अपने सपने को हासिल करने के लिए हाथ धरे बैठे रहना ठीक बात नहीं है। बल्कि आगे बढ़कर अपने संकल्प को पूरा करना सबसे महत्वपूर्ण बात होती है। सपने को पूरा करने के महत्व को समझाते हुए प्रधानमंत्री जी ने कहा कि अगर हम पूरी लगन से और पूरी विचारों से जुड़ जाए तो हमारे सपने हमारे जीवन का हिस्सा हो जाएगा और इस तरह से हम अपने सपने को कभी भूल नहीं पाएंगे और उसे साकार करेंगे उन्होंने एक बड़ी बात कही थी हमें मेमोराइज नहीं एक्चुअली यह इंटेलाइज करना है।

अपने आसपास के जीवन को ऑब्जर्व करना सीखिए

नरेंद्र मोदी जी ने कक्षा 10 और 12वीं के विद्यार्थियों पर कहा कि अपने आसपास जीवन को गौर से निरीक्षण करना सीखिए ऑब्जरवेशन करना सीखिए उन्होंने बताया कि हम कैसे अलग अलग तरह के प्रोफेशन करने वाले लोगों के लेटर ऑफ जॉब को देख सकते हैं।

परिवर्तन, बहुत सारे अवसर लेकर आते हैं : पीएम मोदी

पीएम मोदी ने कहा कि यह दुनिया इतनी छोटी नहीं है, बल्कि इसकी एक बड़ी व्यवस्था है मानो इतिहास है जिसमें लगातार बदलाव होते रहते हैं और हर अवसर एक नया बदलाव लेकर आता है।

मोदी जी ने परीक्षा पर चर्चा 2021 में एक बड़ी बात खास पेरेंट्स के लिए कही कि उनका बच्चा किसी और पर निर्भर नहीं होना चाहिए। आपका बच्चा जो है, खुद ही प्रकाशित होना चाहिए। बच्चों के अंदर प्रकाश अगर आप देखना चाहते हैं तो वह अपने भीतर से प्रकाशमान होना चाहिए‌‌। किसी को भी मोटिवेट करने वाला पार्ट ट्रेनी होता है, प्रॉपर ट्रेनिंग एक बार बच्चे का मन प्रशिक्षित हो जाएगा तब तब उसके बाद मोटिवेशन का समय शुरू होगा।

निष्कर्ष

दोस्तों आज पढ़ाई का दौर बदला है,आज एग्जामिनेशन एक गैर की तरह नहीं बल्कि एक उत्सव की तरह है क्योंकि पढ़ने के बाद आपके मूल्यांकन एग्जाम के माध्यम से होता है लेकिन प्रधानमंत्री जी ने सही बात भी कही कि जीवन का कोई भी एग्जाम आपके पढ़ाई का सही मूल्यांकन नहीं कर सकता है असली मूल्यांकन तो जीवन में सफलता और असफलता का हमारे फैसले और हमारी सोच पर निर्भर करती है इसलिए कोई एग्जाम अंतिम पैमाना नहीं होता है।


आप हमसे Facebook Page , Twitter or Instagram से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें:

Leave a comment