lockdown 2.0 -14 अप्रैल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन और कोरोना लॉकडाउन से जुड़ी प्रमुख जानकारी

14 April Prime Minister Narendra Modi's Address And Key Information Related To The Corona Lock Down

0

lockdown 2.0 -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए देशव्यापी लॉक डाउन को 3 मई तक बढ़ाया. देश-दुनिया पर छाई कोरोना वायरस संकट के मद्देनजर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को तीसरी बार देशवासियों को संबोधित किया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज खत्म होने जा रहे लॉक डाउन को 3 मई तक बढ़ाने का ऐलान किया.

कोरोना वायरस की वैश्विक महामारी के खिलाफ भारत की लड़ाई बहुत ही मजबूती के साथ आगे बढ़ रही है. पीएम ने कहा आप लोगों ने कष्ट सहकर भी अपने देश को बचाया है. 15 अप्रैल को सरकार लॉकडाउन को लेकर नई गाइड लाइन जारी करेगी.

अवश्य पढ़ें:

Tribute to Dr. Bhimrao Ambedkar (डॉ भीमराव अंबेडकर को दी श्रद्धांजलि)

lockdown 2.0
lockdown 2.0 -14 अप्रैल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन और कोरोना लॉकडाउन से जुड़ी प्रमुख जानकारी

हमारे संविधान में जिस ” वी द पीपल ऑफ इंडिया “ की शक्ति की बात कही गई है. यही तो है वो बाबा साहेब डॉक्टर भीमराव अंबेडकर जी की जन्म जयंती पर हम भारत के लोगों की तरफ से अपनी सामूहिक शक्ति का प्रदर्शन, बाबा साहेब का जीवन हमें हर चुनौती को अपनी संकल्प शक्ति और परिश्रम के बलबूते पर पार करने की निरंतर प्रेरणा देता है.

 Different Festivals Have Been Celebrated In Different Parts Of The Country (देश के अलग-अलग हिस्सों में अलग-अलग त्यौहारों को मनाया है)

भारत तो उत्सव से भरा रहता है, हरा रहता है खिलखिलाता रहता है, वैशाखी, पोहेला बैसाख, ईशु व अनेक राज्यों में नए वर्ष की शुरुआत हुई है. लॉकडाउन के इन बंधनों के बीच देश के लोग किस तरह नियमों का पालन कर रहे हैं. जितने संयम से अपने घरों में रहकर सादगी पूर्ण तरीके से त्यौहार मना रहे हैं यह बहुत ही प्रेरक और प्रशंसनीय है.

Now More Strictness Is Needed (अब पहले से ज्यादा सख्ती की जरूरत है)

भारत ने होलिस्टिक और इंटीग्रेटेड अप्रोच (Holistic And Integrated Approach) नहीं अपनाए होते, इस समय पर तेज फैसले नहीं लिए होते तो आज भारत की स्थिति क्या होती इसकी कल्पना करते ही रोए खड़े हो जाते हैं. हमने जो रास्ता चुना है, आज की स्थिति में वही हमारे लिए सही है. सोशल डिस्टेंसिंग और लॉकडाउन का बहुत बड़ा लाभ देश को मिला है. सिर्फ आर्थिक दृष्टि से देखे तो यह महंगा जरूर लगता है, बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ी है लेकिन भारत वासियों की जिंदगी के आगे इसकी कोई तुलना नहीं हो सकती. सीमित संसाधनों के बीच भारत जिस मार्ग पर चला है उस मार्ग की चर्चा आज दुनिया भर में होना बहुत स्वाभाविक है.

कहीं पर भी कोरोना से एक भी मरीज की दुखद मृत्यु होती है तो हमारी चिंता और बढ़ती है, इसलिए हमें हॉटस्पोर्ट्स को इंगित करके पहले से भी ज्यादा, बहुत ज्यादा सतर्कता बरतनी ही होगी. जिन स्थानों के हॉटस्पॉट में बदलने की आशंका है, उस जगह भी हमें कड़ी नजर रखनी होगी कठोर कदम उठाने होंगे.

Some Essential Activities Allowed From April 20 (20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति)

20 अप्रैल तक हर कस्बे, हर थाने, हर जिले हर, राज्य को बड़ी बारीकी से परखा जाएगा. वहां लॉकडाउन का कितना पालन हो रहा है, उस क्षेत्र ने कोरोना से खुद को कितना बचाया है, इसका मूल्यांकन लगातार किया जाएगा. जो क्षेत्र इसमें सफल होंगे, जो अपने यहां हॉटस्पॉट्स नहीं बढ़ने देंगे और जिनके हॉटस्पॉट्स में बदलने की आशंका भी कम होगी, वहां 20 अप्रैल से कुछ जरूरी गतिविधियों की अनुमति छूट दी जा सकती है.

यह अनुमति सशर्त होगी. बाहर निकलने के नियम बहुत सख्त होंगे इसलिए ना तो खुद कोई लापरवाही करनी है और ना ही किसी और को लापरवाही करने देना है. 20 अप्रैल के छूट का प्रावधान गरीब भाई-बहनों की आजीविका को ध्यान में रखकर किया है.

जरूर पढ़ें:

PM Modi Is Seeking Your Support In 7 Things (पीएम मोदी सात ( 7 ) बातों में आपका साथ मांग रहे हैं)

  • अपने घरों की बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें. खासकर ऐसे व्यक्ति जिन्हें पुरानी बीमारी हो, उनकी हमें Extra Care करनी है. उन्हें कोरोना से बहुत बचा कर रखनी है.
  • लॉक डाउन और Social Distancing की लक्ष्मण रेखा का पूरी तरह पालन करें. घर में बने मार्क्स का अनिवार्य रूप से उपयोग करें.
  • अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए आयुष मंत्रालय द्वारा जो निर्देश दिए जा रहे हैं, उनका पालन करें. गर्म पानी, काढ़ा, इनका निरंतर सेवन करें.
  • कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने में मदद करने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल ऐप (Aarogya Setu Mobile App) को डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करें.
  • जितना हो सके उतना गरीब परिवार की देखरेख करें. उनके भोजन की जरूरत पूरी करें.
  • आज अपने व्यवसाय, अपने उद्योग में अपने साथ काम करने वाले लोगों के प्रति संवेदना रखें. किसी को नौकरी से न निकाले.
  • देश के कोरोना युध्दाओं और हमारे डॉक्टर, नर्सेज, सफाई कर्मी, पुलिसकर्मी ऐसे सभी लोगों को हम सम्मान करें. आदर पूर्वक उनका गौरव करें.

इन 7 बातों में आपका साथ ये सप्तपदी विजय प्राप्त करने का मार्ग है. विजयी होने का हमारे लिए निष्ठा पूर्वक करने वाला यह काम है. पूरी निष्ठा के साथ 3 मई तक लॉक डाउन के नियमों का पालन करें. जहां है वहां रहें, सुरक्षित रहे. ” वयं राष्ट्रे जागृयाम ” अर्थात हम सभी राष्ट्र को जीवंत और जाग्रत बनाए रखेंगे.

lockdown 2.0 guidelines PDF Download

इसे भी पढ़ें: