PM Modi Speech -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अप्रैल रात 9 बजे 9 मिनट तक के लिए एकजुट होने का संदेश दिया

Prime Minister Narendra Modi Gave A Message To Unite For 9 Minutes At 9 Pm On 5 April

0

PM Modi Speech in Hindi Today – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को एक वीडियो संदेश के माध्यम से देश के लोगों से कोरोना वायरस महामारी के खिलाफ लड़ाई में एकजुट होने का आग्रह किया. उनके वीडियो संदेश के द्वारा कुछ महत्वपूर्ण बिंदु नीचे पढ़ सकते है.

अवश्य पढ़ें:

PM Modi Speech – Important Points in Hindi

PM Modi Speech -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अप्रैल रात 9 बजे 9 मिनट तक के लिए एकजुट होने का संदेश दिया
PM Modi Speech -प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 5 अप्रैल रात 9 बजे 9 मिनट तक के लिए एकजुट होने का संदेश दिया

20+ Free Mocks For RRB NTPC & Group D ExamAttempt Free Mock Test
10+ Free Mocks for IBPS & SBI Clerk ExamAttempt Free Mock Test
10+ Free Mocks for SSC CGL 2020 ExamAttempt Free Mock Test
Attempt Scholarship Tests & Win prize worth 1Lakh+1 Lakh Free Scholarship
  • 5 अप्रैल ठीक रात 9 बजे सारे बत्तियां बंद कर दी जाए. 
  • 5 अप्रैल को सभी अपने द्वार या बालकनियों पर खड़े होकर रात 9 बजे 9 मिनट के लिए एक मोमबत्ती, दिया, टॉर्च या फिर अपने मोबाइल से प्रकाशित करके कोरोना वायरस द्वारा फैलाए गए अंधेरे से लड़ने के उद्देश्य पर प्रकाश डालें.
  • यदि हर घर एक एक दिया जलाए तो हमें उस प्रकाश की शक्ति का एहसास होगा कि हम सभी एक साथ लड़ रहे हैं.
  • इस आयोजन के दौरान कोई भी इकट्ठा नहीं होना चाहिए इस कार्य को अपने घरों की बालकनियों और दरवाजों से पूरा करने की आवश्यकता है.
  • सामाजिक भेद के लक्ष्मण रेखा को पार न करें सामाजिक भेद को किसी भी परिस्थिति में तोड़ना नहीं है | यह कोरोना वायरस श्रृंखला को तोड़ने के लिए रामबाण है.
  • हम अकेले नहीं है यह 130 करोड़ लोगों की शक्ति है.
  • यह जागरूकता हमें प्रेरणा देती है, हमें एक लक्ष्य देती है और हमें उन्हें हासिल करने की ऊर्जा देती है , यह हमारे रास्ते को और साफ करती है.
  • कोरोना वायरस महामारी के कारण होने वाले इस अंधेरे के बीच हमें प्रकाश की ओर पहुंचने के लिए निरंतर प्रयास करने की आवश्यकता है.

” अनेकता में एकता ” यह दर्शाता है |

इसे भी पढ़ें:

Leave A Reply

Your email address will not be published.