कोरोना वायरस से बचाव, नोवल कोरोना वायरस (COVID – 19) बीमारी की जानकारी

Corona virus Symptoms & Prevention Methods in Hindi

0

कोरोना वायरस से बचाव । नोवल कोरोना वायरस (COVID – 19) बीमारी की जानकारी | Corona Virus Prevention Method, Novel Corona Virus Disease Information in Hindi – आज आप सभी छात्र SarkariExamHelp के इस लेख के माध्यम से कोरोना वायरस के लक्षण और बचाव की जानकारी” प्राप्त कर पाएंगे. आप इस लेख के माध्यम नोवल कोरोना वायरस ( COVID – 19 ) बीमारी की जानकारी की जानकारी (Novel Corona Virus Disease Information in Hindi) भी पढने को मिलेंगी.

अवश्य पढ़ें:

स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा कोरोना वायरस संक्रमण से बचाव के लिए निम्नानुसार सावधानी बरतने हेतु सुझाव –

Corona virus Symptoms & Prevention Methods in Hindi
कोरोना वायरस से बचाव, नोवल कोरोना वायरस (COVID – 19) बीमारी की जानकारी
  • छिकने (Sneezing), खाँसने (Coughing), टॉयलेट आदि के पश्चात एवं बीमार व्यक्ति से मिलने, खाना पकाने अथवा खाना खाने इत्यादि के पूर्व एवं पश्चात साबुन एवं पानी से नियमित रूप से हाथ धोएं. 
  • छिंकते व खाँसते समय नाक एवं मुंह को रुमाल , टिशू या कोहनी से ढक कर रखें. 
  • खांसी , जुकाम या बुखार से पीड़ित व्यक्ति से कम से कम 1 मीटर की दूरी बनाए रखें.
  • खांसी , जुखाम , बुखार या सांस लेने में तकलीफ की दशा में तत्काल चिकित्सक (Doctor) से संपर्क करें. 
  • बुखार , सर्दी – खांसी एवं जुखाम की दशा में यात्राएं टालें. 
  • जिन कक्षाओं के विद्यार्थी की बोर्ड परीक्षाएं (Board Exams) हैं उन्हें छोड़कर शेष कक्षाओं के विद्यार्थी यदि सर्दी – खांसी , जुकाम से पीड़ित है तो उन्हें स्वस्थ्य होने के उपरांत स्कूल आने दिया जाए इसके लिए माता-पिता / अभिभावक से संपर्क कर उनसे अनुरोध किया जाए कि बच्चों को स्वस्थ्य होने तक स्कूल ना भेजें. 
  • यदि ऐसे बच्चे की परीक्षा चल रही हो तो भी उसे स्कूल नहीं आने दिया जाए. ऐसे सभी छात्रों के लिए परीक्षा की वैकल्पिक (Alternative) व्यवस्था की जाए. वैकल्पिक व्यवस्था के संबंध में स्कूल विवेक से निर्णय ले सकेंगे. 
  • सर्दी – खांसी , जुकाम से पीड़ित यदि कोई विद्यार्थी 10वीं या 12वीं की बोर्ड की परीक्षा दे रहे हैं तो केंद्राध्यक्ष (Head of The Center) यह सुनिश्चित करेंगे कि विद्यार्थी मास्क (Mask) का प्रयोग करें एवं क्रमांक 1 से 5 तक में उल्लेखित प्रोटोकॉल का पालन करें. 
  • परीक्षा कार्य में संलग्न यदि किसी शिक्षक को सर्दी – खांसी होती है तो वह मास्क पहनकर विद्यालय में आए , हैंड सेनेटाईजर (Hand Sanitizer) का उपयोग करें एवं क्रमांक 1 से 5 तक में उल्लेखित प्रोटोकॉल का पालन करें. 
  • विद्यालय में अध्ययनरत अथवा परीक्षा दे रहे कोई विद्यार्थी या उसके परिवार में जहां वह रह रहा है का कोई परिवारिक सदस्य कोरोना वायरस पॉजिटिव (Corona Virus Positive) पाया जाता है तो प्राचार्य / केंद्राध्यक्ष तत्काल अपने जिले के वरिष्ठ अधिकारियों को सूचित करेंगे. 
  • हॉस्टल में निवासरत यदि किसी बच्चे को सर्दी – खासी , जुकाम की शिकायत होती है तो वार्डन (Warden) की यह जिम्मेदारी होगी कि वह इस संबंध में लापरवाही न बरतें एवं तत्काल उसे चिकित्सक से परामर्श दिलाए. 
  • सर्दी – खांसी , जुकाम से पीड़ित शिक्षक एवं विद्यार्थी को यह सुझाव दिया जाता है वह लापरवाही न बरते , परंतु डॉक्टर से संपर्क करें. 

Novel Corona Virus Disease Information (नोवल कोरोना वायरस ( COVID – 19 ) बीमारी की जानकारी)

हाल ही में चीन के हुबई प्रांत के वुहान शहर में एक प्रकार का नोवल कोरोना वायरस (COVID – 19) से निमोनिया के प्रकरण पाए गए हैं. यह एक संक्रामक बीमारी है. वर्तमान में यह बीमारी चीन तथा अन्य प्रभावित देशों से आए यात्रियों में ही पाई गई है. भारत में इस बीमारी से सिर्फ 5 प्रकरण पाए गए हैं जो कि केरल , नई दिल्ली एवं तेलंगाना राज्य से है. दिनांक 31.01.2020 को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा इसे Public Health Emergency Of International Concern घोषित किया गया है.

जरूर पढ़ें:

नोवल कोरोना वायरस बीमारी कैसे फैलता है?

नोवल कोरोना वायरस संक्रमण एक विषाणु जनित रोग है. वर्तमान में भारत के पड़ोसी देश चीन एवं अन्य 64 देशों में नोवल कोरोना वायरस बीमारी के प्रकरण दर्ज हो रहे हैं.नोवल कोरोना वायरस संक्रमण प्रभावित व्यक्ति के खाँसने छिकने (Droplet Infection) अथवा संक्रमण व्यक्ति के नजदीक संपर्क से फैलता है.

Symptoms Of Novel Corona Virus Infection (नोवल कोरोना वायरस संक्रमण के लक्षण)

यदि कोई व्यक्ति पिछले एक माह के दौरान चीन देश से आया है अथवा नोवल कोरोना वायरस बीमारी से प्रभावित देशों से आया हो. नोवल कोरोना वायरस बीमारी के मरीज के संपर्क में आया हो.

symptoms Of Novel Corona Virus 

  • तेज बुखार ( 138’C )
  • खांसी – जुकाम
  • गले में खराश
  • गंभीर मामलों में सांस लेने में तकलीफ व निमोनिया. 
  • सांस फूलना.

Corona Virus Disease Prevention Methods in Hindi  (करोना वायरस बीमारी से बचाव के उपाय)

यदि कोई व्यक्ति पिछले एक माह के दौरान चीन या अन्य प्रभावित देशों से आया हो या कोरोना वायरस संक्रमण रोगी के संपर्क में आया हो तो लक्षण होने पर –

  • नजदीकी स्वास्थ्य केंद्र पर अनिवार्य रूप से संपर्क करें.
  • मास्क का उपयोग करें व लोगों से दूरी बनाए रखें.
  • नोवल कोरोना वायरस से अनावश्यक भय की आवश्यकता नहीं है. सावधानी एवं सतर्कता से बचाव आसान है.
  • खाँसते – छिखते समय मुंह में रुमाल , कपड़ा आदि लगाएं या कोहनी से नाक मुँह ढ़के. 
  • सर्दी – खांसी से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क से दूर रहें.
  • खाना खाने से पहले या बाद में , शौचालय का उपयोग करने के उपरांत एवं नाक मुंह साफ करने के बाद अच्छी तरह से हाथ धोएं.
  • पशुओं एवं उनके अपशिष्ट छूने उपरांत अच्छी तरह से हाथ धोए.

Possible COVID – 19 Patients Taking Precautions (संभावित ( COVID – 19 ) के मरीज बरती जाने वाली सावधानियां)

  • उपरोक्त सामान्य सावधानियों के साथ-साथ संभावित मरीज में परिवार के सदस्यों , मिलने जुलने वाले लोगों तथा देखभाल करने वाले स्वास्थ्य कर्मियों को मास्क (Mask) पहनकर बार-बार हाथ धोए.
  • मरीज को अलग एक स्वच्छ हवादार आइसोलेट (Isolate) कमरे में रखे यदि यह संभव ना हो तो सभी संभावित एक ही प्रकार के लक्षणों वाले मरीजों को एक ही कमरे में रखे. 
  • 2 मरीजों में पलंग के बीच की दूरी का अंतर कम से कम 1 मीटर होना चाहिए. 
  • जहां तक संभव हो स्वास्थ्य कर्मियों का एक प्रथक से समूह बनाकर उन्हीं से संभावित मरीजों की देखभाल कराएं. 
  • साफ लंबे बांह वाले गीले ना होने वाले गाउन वह दस्ताने का इस्तेमाल करें. 
  • एक बार उपयोग में लाए जाने वाले डिस्पोजेबल (Disposable) उपकरणों का प्रयोग करें. जहां संभव हो ( जैसे स्टेथोस्कोप (Stethoscope), ब्लड प्रेशर (Blood Pressure) नापने की मशीन , थर्मामीटर (Thermometer) ) एक ही या मरीजों के लिए उपयोग को या (Ethyl Alcohol) से साफ कर दूसरे मरीजों के लिए उपयोग करें. 
  • हाथ को आंख , नाक व मुंह में ना लगाए.
  • मरीजों को अनावश्यक घूमने फिरने ना दे. पोर्टेबल (x-ray) मशीन आदि प्रयोग करें. 
  • मरीज को ले जाने वाले स्वास्थ्य कर्मी पीपीई किट का इस्तेमाल करें.
  • संभावित मरीज के आने वाले एरिया को नोटिफाई (Notify) करें व इसमें आने वाले लोग सावधानी बरते.
  • मरीज के संपर्क में आने वाली जगह को नियमित रूप से साफ करें. 
  • कम से कम स्वास्थ्य कर्मी व परिवार वालों को मरीज के कमरे में आने दे.
  • कमरे में आने वाले सभी कर्मचारियों व परिवार वालों का रिकॉर्ड सूचीबद्ध करें.
  • मरीज के संपर्क में आने वाले स्वास्थ्य कर्मी व परिवार लोगों की ट्रेनिंग व स्वास्थ्य शिक्षा दी जावे.

What To Do? 

  • खांसते , छीकते समय मुंह या रुमाल , कपड़ा आदि लगाए या कोहनी से नाक मुँह को ढके. 
  • संभावित नोवल कोरोना वायरस (Corona Virus) बीमारी के मरीज को मास्क पहनने की सलाह दे. 
  • सर्दी – खांसी से संक्रमित व्यक्तियों के संपर्क से दूर रहें. 
  • खाना खाने से पहले व बात में अच्छी तरह से हाथ धोए या अल्कोहल बेस्ट सैनिटाइजर (Alcohol Best Sanitizer) का इस्तेमाल करें. 
  • पशुओं एवं उनके अपविष्ट छूने उपरांत अच्छी तरह से हाँथ धोए. 
  • अधिक मात्रा में तरल पदार्थ तथा पौष्टिक आहार का सेवन करें. 

What Not to Do?

  • शिष्टाचार में हाथ न मिलाये , गले न लगे एवं अन्य संपर्क बढ़ने वाले कार्य न करें. 
  • बिना चिकित्स्कीय परामर्श के दवाई ना लें. 
  • अनावश्यक यात्रा से परहेज करें. 
  • कोरोना वायरस संक्रमण के उपचार हेतु कोई विशेष दवा अथवा वैक्सीन उपलब्ध नहीं है , केवल लक्षणों के आधार पर उपचार किया जाता है. 

Arrangement For Testing Of Samples Of Potential Patients (संभावित मरीजों के सेम्पल की जाँच की व्यवस्था)

नोवल कोरोना वायरस बीमारी के सेम्पल की जाँच की व्यवस्था इंदिरा गाँधी शासकीय मेडिकल कॉलेज ,नागपुर महाराष्ट्र / NIV पुणे में की गई है.

दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें: