Coronavirus in India: PM Modi Speech on CoronaVirus Awareness and Prevention in Hindi

CoronaVirus Awareness And Prevention " Prime Minister Narendra Modi's Important Message To The People Of The Country To Tackle The CoronaVirus | कोरोना वायरस जागरूकता एवं बचाव " कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का देशवासियों के लिए महत्वपूर्ण संदेश

0

Coronavirus in India : Prime Minister (PM) Modi Speech on CoronaVirus Awareness and Prevention in Hindi- कोरोना वायरस (CoronaVirus) पर देश को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि उन्होंने जब भी देश से कुछ मांगा है लोगों ने उन्हें निराश नहीं किया है. पीएम ने कहा कि आज देशवासियों से कुछ मांगने आए हैं, पीएम ने अपनी मांग बताते हुए कहा कि मुझे आपका कुछ सप्ताह चाहिए, कुछ समय चाहिए.

अवश्य पढ़ें:

CoronaVirus Endangered Mankind (कोरोना वायरस मानव जाति को संकट में डाला)

Coronavirus in India: PM Modi Speech on CoronaVirus Awareness and Prevention in Hindi
Coronavirus in India: PM Modi Speech on CoronaVirus Awareness and Prevention in Hindi

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भारत के 130 करोड़ लोगों ने कोरोना वायरस का डटकर मुकाबला किया है. बीते कुछ दिनों से ऐसा लग रहा है की जैसे कि हम बचे हुए हैं, ऐसा लगता है कि हम निश्चिंत हो गए हैं, लेकिन ऐसा नहीं है पीएम ने कहा कि कोरोना वायरस को लेकर हम चिंतित हैं.

इस बार का संकट जैसा है जिसने पूरी मानव जाति को संकट में डाल दिया है. पीएम ने कहा कि जब प्रथम विश्व युद्ध (First World War) हुआ था, दूसरा विश्व युद्ध( 2nd World War) हुआ था तो भी इतने देश प्रभावित नहीं हुए थे, जितना इस बार कोरोनावायरस (CoronaVirus) की वजह से हुए हैं. कुछ देशों में शुरुआती ही कुछ दिनों के बाद अचानक बीमारी का जैसे विस्फोट (Explosion) हुआ है. इन देशों में कोरोना से संक्रमित (Infected) लोगों की संख्या बहुत तेजी से बढ़ी है.

Resolution and Restraint Required (संकल्प और संयम की आवश्यकता)

पीएम नरेंद्र मोदी ने कहा की अभी तक कोरोनावायरस का कोई इलाज नहीं मिल पाया है, ना ही इसका वैक्सीन (Vaccine) बन पाया है. भारत सरकार इस स्थिति पर कोरोना के फैलाव के इस ट्रैक रिकॉर्ड (Track Record) पर पूरी तरह तैयारी कर रहे है. इस वैश्विक महामारी Global Epidemic का मुकाबला करने के दो मुख्य बातों की आवश्यकता है. ” पहला संकल्प और दूसरा संयम “ आज 130 करोड़ देशवासियों को अपना संकल्प और दृढ़ करना होगा कि हम इस वैश्विक महामारी (Global Epidemic) को रोकने के लिए एक व्यक्ति जिम्मेदार नागरिक होने के नाते, अपना कर्तव्य का पालन करेंगे. राज्य सरकार, केन्द्र सरकार के दिशा निर्देशों का पालन करेंगे.

The World Will Be Healthy, If We Stay Healthy (हम स्वस्थ तो जग स्वस्थ)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि इस तरह की वैश्विक महामारी में एक ही मंत्र काम करता है –” हम स्वस्थ तो जग स्वस्थ ” ऐसी स्थिति में जब इस बीमारी की कोई दवा नहीं है तो हमारा खुद का स्वस्थ बने रहना सबसे बड़ी आवश्यकता है. पीएम ने कहा कि आज हमें यह संकल्प लेना होगा कि हम स्वयं संक्रमित होने से बचेंगे और दूसरों को भी संक्रमित होने से बचाएंगे. पीएम ने कहा कि कोरोना के खतरे से निपटने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग (Social Distancing) बेहद जरूरी है और कारगर भी है. ” हम स्वस्थ और जग स्वस्थ “ इस बीमारी के प्रभाव को कम करने में बहुत बड़ी भूमिका निभा सकती है.

Do not Leave the House Without Compulsory (बिना अनिवार्य घर से बाहर न निकले)

पीएम ने कहा जिनकी आयु 60 – 65 वर्ष से ज्यादा और जिनकी आयु 10 वर्ष से कम है घर से बाहर ना निकले. पीएम ने लोगों को आगाह किया है कि बिना जरूरत बाजार में ना जाए, रूटीन चेकअप के लिए अस्पताल भी ना जाए. देशवासियों के साथ आग्रह है कि आने वाले कुछ सप्ताह तक घर से बाहर ना निकले. जितना संभव हो सके आप अपना काम घर में ही करें. जो सीनियर सिटीजन है वह घर से बाहर ना निकले.

पीएम ने कहा कि हो सकता है कि मौजूदा पीढ़ी पुरानी कुछ बातों से परिचित ना हो, उस समय जब युद्ध की स्थिति होती थी तो गांव-गांव ब्लैक आउट (Black Out) किया जाता था, गाड़ियों पर काले पेपर लगाए जाते थे. युद्ध ना हो तो भी नगरपालिकाएं ब्लैकआउट का ड्रिल करवाती थी. इसलिए वे आज प्रत्येक देशवासी से एक और समर्थन कर मांग रहे हैं ये है ” जनता कर्फ्यू “.

जरूर पढ़ें:

22 March Janata Curfew (22 मार्च, जनता कर्फ्यू)

पीएम ने जनता कर्फ्यू को विस्तार से समझाते हुए कहा कि जनता के लिए जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यू है. पीएम ने कहा कि इस रविवार यानी 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक सभी देशवासियों को जनता कर्फ्यू का पालन करना है. इस कर्फ्यू के दौरान कोई भी नागरिक घरों से बाहर न निकले, आवश्यक सेवाओं को छोड़कर अपने घर में ही रहे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस कार्य में सामाजिक, धार्मिक संगठनों को आगे आने को कहा. पीएम ने कहा कि पिछले 2 महीनों में जो लोग निस्वार्थ रूप से सेवा कर कार्य में जुड़े हैं, पीएम ने उन्हें राष्ट्र रक्षक का नाम दिया है.

पीएम ने कहा कि ऐसे लोगों को धन्यवाद अर्पित किया जाए. ” मैं चाहता हूं कि 22 मार्च रविवार के दिन हम ऐसे सभी लोगों को धन्यवाद अर्पित करें रविवार को ठीक 5 बजे हम अपने घर के दरवाजे पर खड़े होकर, बालकनी में, खिड़कियों के सामने खड़े होकर 5 मिनट तक ऐसे लोगों का आभार व्यक्त करें, इसके लिए ताली बजाकर, थाली बजाकर, घंटी बजाकर और सैल्यूट कर ऐसे लोगों को सम्मान करें.

Do Not Go To The Hospital For Routine Checkup (रूटीन चेकअप के लिए न जाएं अस्पताल)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से अपील की है कि संकट के इस समय में अनिवार्य नहीं है तो लोग रुटीन चेकअप के लिए अस्पताल जाने से जितना बच सकते हैं उतना बचे. पीएम ने कहा कि कोरोना महामारी से पैदा हो रही है आर्थिक चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए, वित्त मंत्री ने नेतृत्व में सरकार ने एक कोविड -19 इकोनामिक रिस्पांस टास्क फोर्स COVID -19 Economic Response Task Force के गठन का फैसला किया है.  यह टास्क फोर्स यह भी सुनिश्चित करेगी कि आर्थिक मुश्किलों को कम करने के लिए जितने भी कदम उठाए जाएं उन पर प्रभावी रूप से अमल हो.

प्रधानमंत्री ने कहा कि वे देशवासियों को इस बात के लिए भी आस्वस्त करते हैं कि देश में दूध, खाने – पीने का सामान, दवाइयां, जीवन के लिए जरूरी ऐसी आवश्यक चीजों की कमी नहीं होने दी जाएगी जिसके लिए तमाम कदम उठाए जा रहे हैं.

Do Not Deduct High Income Group Salary (उच्च आय वर्ग वेतन न काटे)

पीएम ने कहा कि इस घड़ी में लोगों को कुछ दिक्कतें हो सकती है. उन्होंने कहा ” मुझे भरोसा है कि आने वाले समय में भी आप अपने कर्तव्यों का, अपने दायित्व का इसी तरह निर्वहन करते रहेंगे. हां, मैं मानता हूं कि ऐसे समय में कुछ कठिनाइयां भी आती है. आशंकाओं और अफवाहों का वातावरण भी पैदा होता है.

प्रधानमंत्री ने कहा कि संकट की इस समय में मेरा देश के व्यापारी जगत, उच्च वर्ग से भी आग्रह है कि अगर संभव है तो आप जिन – जिन लोगों से सेवाएं लेते हैं उनके आर्थिक हितों का ध्यान रखें कि उन्हें भी अपने परिवार चलाना है. पीएम ने कहा कि जरूरी सामान संग्रह करने की होड़ ना लगाएं, डटकर खरीदारी ना करें.

PM Modi’s nine requests on Navratri (नवरात्रि पर पीएम मोदी के – नौ आग्रह)

  • प्रत्येक भारतवासी सजग रहें, सतर्क रहें. आने वाले कुछ सप्ताह तक, जब बहुत जरूरी न हो अपने घर से बाहर ना निकले.
  • 10 वर्ष से कम 60 – 65 वर्ष की आयु के ऊपर के व्यक्ति घर के भीतर ही रहे.
  • 22 मार्च को सुबह 7 बजे से रात 9 बजे तक, जनता कर्फ्यू का पालन करें.
  • दूसरों की सेवा कर रहे लोगों को 22 मार्च की शाम को 5 बजे 5 मिनट तक करतल ध्वनि के साथ आभार व्यक्त करें.
  • रूटीन चेकअप के लिए अस्पताल जाने से बचे, जो सर्जरी बहुत आवश्यक ना हो उसकी तारीख आगे बढ़वाएं.
  • वित्त मंत्री के नेतृत्व में गठित कोविड -19 इकोनामिक रिस्पांस टास्क फोर्स COVID -19 Economic Response Task Force आवश्यक फैसले लेने का आग्रह.
  • व्यापारी जगत से, उच्च आय वर्ग से, जिनसे आप सेवाएं ले रहे है उनका वेतन न काटने का आग्रह.
  • जरूरत से ज्यादा सामान संग्रह न करें, Panic Buying न करने का आग्रह.
  • आशंकाओं और अफवाहों से बचने का आग्रह.

दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें: