Kisan Credit Card (KCC): किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में

किसान क्रेडिट कार्ड कैसे बनवाएं | KCC Toll Free Helpline Number

0

Kisan Credit Card – भारत एक कृषि प्रधान देश है. भारत की अर्थव्यवस्था कृषि पर ही आधारित है. लेकिन दुर्भाग्य से भारत की एक बड़ी आबादी कृषि पर निर्भर होने के बावजूद पैसों के अभाव में अच्छी खेती नहीं कर पाती है या खेती के लिए लिए गए कर्ज के बोझ तले ही दबी रहती है. इन्हीं सब बातों को ध्यान में रखते हुए भारत में किसान की सहूलियत के लिए किसान क्रेडिट कार्ड योजना शुरू की गई थी. इसका मुख्य उद्देश्य किसानों को सस्ता लोन देते हुए राहत पहुंचाना था.

इस आर्टिकल में हम बात करेंगे कि Kisan Credit Card kya hai, KCC का लाभ क्या है, किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आप कैसे आवेदन कर सकते हैं, किसान क्रेडिट कार्ड के लिए किनकिन दस्तावेजों की जरूरत पड़ती है, किन किन बैंकों से आप किसान क्रेडिट कार्ड हासिल कर सकते हैं तथा किसान क्रेडिट कार्ड’ के लिए योग्यता क्या है. तो चलिए, बिंदुवार तरीके से सभी को समझते हैं –

अवश्य पढ़ें:

किसान क्रेडिट कार्ड क्या है? – What is Kisan Credit Card?

Kisan Credit Card (KCC): किसान क्रेडिट कार्ड
Kisan Credit Card (KCC): किसान क्रेडिट कार्ड के बारे में पूरी जानकारी हिंदी में

आमतौर से किसान बैंकों से लोन ना लेकर साहूकारों इत्यादि से लेते थे.  इसका नतीजा होता था कि किसान कर्ज के बोझ तले और अधिक इंटरेस्ट रेट के कारण कर्ज में ही दबे रह जाते थे.  इसी को ध्यान में रखते हुए सरकार ने Kisan Credit Card (KCC) योजना शुरू की थी. इसके तहत कई बैंकों द्वारा किसान को काफी सस्ती ब्याज दर पर लोन उपलब्ध करवाई जाती है एवं उन्हें कर्ज चुकाने के लिए पर्याप्त समय भी दिया जाता है.  वर्तमान समय में किसान क्रेडिट कार्ड से संबंधित योजनाएं भारत सरकार के वित्त मंत्रालय द्वारा तय किए जाते हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड योजना की शुरुआत कब हुई थी?

भारत में किसान क्रेडिट कार्ड योजना अगस्त, 1998 में शुरू की गई थी. तब इस योजना का प्रारूप National Bank for Agriculture and Rural Development  (NABARD) ने तैयार किया था.  भारत में यह योजना आरबी गुप्ता कमेटी के उस रिपोर्ट के आधार पर शुरू की गई थी जिसमें यह कहा गया था कि सरकार बैंकों के माध्यम से सस्ते ब्याज दरों पर किसानों को कृषि संबंधित आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए ऋण उपलब्ध करवाएं. इसी के बाद देश में किसानों को खेती के लिए बैंकों द्वारा Low Interest Rate पर Kisan Credit Card के रूप में लोन दिए जाने लगे.

किसान क्रेडिट कार्ड के लाभ – Benefits of KCC

किसान क्रेडिट कार्ड के कई लाभ हैं जो इस प्रकार हैं –

  • Kisan Credit Card (KCC) के तहत किसानों को सिर्फ कम से कम 2% तक Interest Rate पर लोन दिया जाता है.
  • केसीसी के तहत 1 लाख 60 हज़ार तक के लोन के लिए किसान को कुछ भी गिरवी रखने की आवश्यकता नहीं होती है. वह सिर्फ self-declaration के आधार पर 1 लाख 60 हज़ार तक के लोन हासिल कर सकता है.
  • केसीसी के तहत किसानों को फसलों का बीमा भी मिलता है. इस कारण फसल खराब होने पर मुआवजा दिया जाता है.
  • KCC में किसानों का भी बीमा किया जाता है. इसके तहत दुर्घटना के बाद किसान के परमानेंट डिसेबिलिटी की स्थिति में या मृत्यु की स्थिति में 50000 तक दिए जाते हैं. जबकि कुछ अन्य नुकसान होने की स्थिति में KCC के तहत 25000 तक दिए जाते हैं.
  • Kisan Credit Card का एक फायदा यह भी है कि किसानों को कर्ज चुकाने के लिए फसल के कटने और बिकने के आधार पर पर्याप्त समय दिया जाता है.
  • किसान क्रेडिट कार्ड के तहत खुलवाए गए अकाउंट में अगर किसान पैसा रखता है तो उन्हें आम सेविंग अकाउंट के मुकाबले अधिक इंटरेस्ट दिया जाता है.
  • बैंक द्वारा  दिए गए समय पर कर्ज चुकाने पर सिर्फ सिंपल इंटरेस्ट रेट ही लगता है. हालांकि अगर बैंक द्वारा दिए गए समय पर कर्ज नहीं चुकाया जाता है तो फिर कंपाउंड इंटरेस्ट रेट जुड़ता है.
  • केसीसी के तहत किसान अधिकतम 300000 के तक के लोन ले सकता है.

किसान क्रेडिट कार्ड के तहत लोन देने वाले बैंक

भारत के अधिकतर प्रमुख बैंकों में से किसान क्रेडिट कार्ड हासिल किया जा सकता है. इसमें स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, पंजाब नेशनल बैंक, HDFC Bank, एक्सिस बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, ओडिशा ग्राम बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक,  बंगिया ग्रामीण विकास बैंक इत्यादि शामिल हैं. इन बैंकों से बेहद कम इंटरेस्ट रेट पर 300000 तक के लोन किसान KCC के तहत ले सकते हैं.

किसान क्रेडिट कार्ड का इंटरेस्ट रेट – Kisan Credit Card Interest Rate

KCC का Interest Rate इस  पर निर्भर करता है कि आप किस बैंक से लोन ले रहे हैं. Interest Rate अमूमन बैंक दर बैंक बदलता है. फिर भी अधिकतर बैंक मुख्य रूप से कम से कम 2% इंटरेस्ट रेट पर लोन देते हैं. भारत में सबसे अधिक KCC SBI (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) द्वारा जारी किया जाता है. ये बैंक सालाना 300000 तक के लोन KCC के तहत सिर्फ 2% सालाना ब्याज दर पर देते हैं. हालांकि कुछ बैंक जैसे Axis Bank और HDFC Bank हैं जिसमें KCC के लिए इंटरेस्ट रेट 9% तक भी है. ऐसे में सरकार किसानों को इन बैंकों से किसान क्रेडिट कार्ड लेने पर अच्छी खासी सब्सिडी देती है.

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए शर्तें –  Kisan Credit Card Eligibility

  • केसीसी हासिल करने की सबसे पहली शर्त यह है कि किसान अपने खेतों में कम से कम 5000 रुपए कीमत तक के फसल उत्पादन  करता हो. अगर वह 5000 रुपए तक के फसल उगा लेता है तो वह KCC हासिल कर सकता है.
  • Kisan Credit Card हासिल करने के लिए अपनी जमीन होना या इतनी न्यूनतम जमीन होना जैसी बाध्यता नहीं है.
  • किसान क्रेडिट कार्ड के तहत कोई भी किसान जो अपने निजी जमीन पर खेती करता हो या बटाईदार के रूप में खेती करता हो, वह केसीसी के तहत लोन हासिल कर सकता है. इसी तरह अगर किसान किसी दूसरे की खेतों पर खेती कर रहा हो तो वह भी केसीसी के लिए आवेदन कर सकते हैं.
  • KCC हासिल करने के लिए एक शर्त यह भी है कि किसान जिस बैंक में केसीसी के लिए आवेदन कर रहा है, वह उसी बैंक के कार्य क्षेत्र का निवासी हो.

जो भी इन कसौटी पर खरा उतरता है वह केसीसी के तहत लोन हासिल कर सकता है.

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज – Documents Required For KCC

Kisan Credit Card हासिल करने के लिए किसान को अपनी पहचान पत्र और एड्रेस प्रूफ देने होंगे. इन दोनों के सत्यापन के बाद ही किसान को KCC दिया जाता है.

किसान आइडेंटिटी कार्ड के रूप में बैंक में पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, वोटर आईडी, नरेगा द्वारा जारी किया गया जॉब कार्ड, UIDAI द्वारा जारी किया गया लेटर इत्यादि में से कोई भी एक पहचान पत्र के रूप में दे सकता है. इसी तरह एड्रेस प्रूफ के तौर पर ऊपर बताए गए दस्तावेजों में से कोई एक दस्तावेज के अलावा बैंक अकाउंट का स्टेटमेंट और बिजली बिल इत्यादि या सरकार द्वारा जारी किया गया कोई भी बिल जो कि 3 महीने से पुराना ना हो, वह दे सकते हैं.

Address या Identity proof के अलावा बैंक को किसान का पासपोर्ट साइज फोटो भी देना होगा. इन सब दस्तावेजों के अलावा अगर बैंक चाहे तो आवश्यकता अनुसार किसान से पहचान की पुष्टि करने के लिए कुछ और दस्तावेज मांग सकता है. इसके अलावा ज़मीन के कागज़ भी बैंक मांगता है.

किसान क्रेडिट कार्ड के लिए कैसे आवेदन करें – How to Apply for Kisan Credit Card

किसान क्रेडिट कार्ड के आवेदन करने के लिए किसान को हर हाल में बैंक जाना ही होगा. अगर किसान Online KCC के लिए आवेदन करता है, तो उसे जिस बैंक से केसीसी लेना है, उस बैंक के आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर KCC से संबंधित फॉर्म डाउनलोड करना होगा.इसे प्रिंट आउट करने के बाद उसे अच्छी तरीके से भरने के बाद निकटतम ब्रांच में जाकर जमा करना होगा. बैंक द्वारा जमा किए गए उस फॉर्म की जांच की जाएगी. उसके बाद आवश्यक कार्रवाई करते हुए बैंक द्वारा केसीसी जारी कर दिया जाएगा.

वहीं, अगर आप Kisan Credit Card ऑफलाइन यानी सीधे ब्रांच के माध्यम से अप्लाई करना चाहते हैं तो आप जिस बैंक में KCC के लिए आवेदन देना चाहते हैं, उस बैंक के नजदीकी शाखा में जाएं. वहां बैंक अधिकारियों से बात करें. इसके बाद आवश्यक कागजी कार्यवाही करने के बाद आपको बैंक द्वारा KCC  दे दिया जाएगा.

Kisan Credit Card Helpline Number

  • किसान टोल फ्री नंबर – 1800-180-1551 और 080 26599990
  • SBI Kisan Credit Card Helpline Number – 1800-11-2211 और 1800 425 3800

दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें: