SarkariExamHelp अब YouTube पर Click Here For Subscribe

Latest CBSE Board Exam Pattern 2021 in Hindi

Latest CBSE Board Exam Pattern 2021 in Hindiसीबीएसई (CBSE Board) 2023 तक 10वीं और 12वीं परीक्षा के प्रश्न पत्रों में बड़ा बदलाव किया है. CBSE Board 2023 तक 10वीं और 12वीं कक्षाओं के प्रश्न पत्र रचनात्मक, आलोचनात्मक और विश्लेषण पर आधारित होंगे.

[better-ads type=”banner” banner=”2707″ campaign=”none” count=”2″ columns=”1″ orderby=”rand” order=”ASC” align=”center” show-caption=”1″][/better-ads]

अवश्य पढ़ें:

सीबीएसई 2021 से सम्बंधित महत्वपूर्ण जानकारी

CBSE Board Exam Pattern 2021
Latest CBSE Board Exam Pattern 2021 in Hindi | “रचनात्मक,आलोचनात्मक और विश्लेषण आधारित होंगे”
  • 2023 तक 10वीं और 12वीं परीक्षा पैटर्न में बदलाव होगा.
  • 10वीं में विद्यार्थियों को 20 फीसदी वस्तुनिष्ठ प्रश्नों को हल करना होगा
  • 10 फीसदी सवाल रचनात्मक विचार पर आधारित होंगे.
  • अब हर विषय के पेपर मे 1 नंबर वाले 25 फीसदी ऑप्शनल सवाल होंगे .
  • सभी सवालों के 33 फीसदी हिस्से में छात्रों को इंटरनल ऑप्शन मिलेगा.

CBSE Board Exam Pattern 2021

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) विद्यार्थियों में रचनात्मक,आलोचनात्मक और विश्लेषण की क्षमता को बढावा देने के लिए 2023 तक 10वीं और 12वीं परीक्षा के प्रश्न पत्रों (CBSE 10th, 12th paper) के स्वरुप में बड़ा बदलाव करेगा.

देश के भविष्य को ध्यान में रखते हुए ऐसा करना वक्त की जरुरत है.भारतीय वाणिज्य एंव उद्योग मंडल(एसोचैम) द्वारा आयोजित शिक्षा शिखर सम्मेलन में कहा कि “इस साल जहां 10वीं कक्षा के विद्यार्थियें को 20 फीसदी वस्तुनिष्ठ प्रश्नों को हल करना होगा वहीं 10 फीसदी सवाल रचनात्मक विचार पर आधारित होंगे 2023 तक 10वीं और 12वीं कक्षाओं के प्रश्न पत्र रचनात्मक,आलोचनात्मक और विश्लेषण पर आधारित होंगे.

नई शिक्षा नीति : New Educational Policy

भारत में व्यावसायिक विषयों को ज्यादा छात्र नहीं मिलते है. ऐसा रोजगार की कमी, बाजार की स्थिरता की कमी और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा नहीं होने की वजह से होता है. इसके अलावा शिक्षा प्रणाली में बुनियादी ढांचे, शिक्षकों, अभिभावकों और विद्यार्थियों के बीच आपसी संबंध को बढ़ावा देने की बेहद जरुरत है. नई शिक्षा नीति का लक्ष्य व्यावसायिक विषयों और मुख्य विषयों के बीच के अंतर को भरना है.

[better-ads type=”banner” banner=”2707″ campaign=”none” count=”2″ columns=”1″ orderby=”rand” order=”ASC” align=”center” show-caption=”1″][/better-ads]

अंको का विभाजन : Division of Marks

10वीं कक्षा में पास होने के लिए हर Subject में Practical व Theory में मिलाकर 33 प्रतिशत अंक लाने होंगे. 12वीं में ऐसा नही है 12वीं के Students को पास होने के लिए Practical Theory और Internal Assessment में अलग-अलग 33 फीसदी अंक लाने होंगे. 12वीं परीक्षा में 70 अंक वाले विषय में 23 और 80 अंक वाले विषय में 26 अंक लाना अनिवार्य होगा.


दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें:

Leave a Comment