PM Modi Mann ki Baat in Hindi -28 जून 2020 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की “मन की बात”

Mann ki Baat Today Highlights in Hindi

0

 28 June 2020, Prime Minister Narendra Modi “mann Ke Baat” – प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात के जरिये देशवासियों को संबोधित किया. लोग चर्चा कर रहे है कि यह साल कब बितेगा. कोरोना के संकट काल में देश लॉकडाउन से बाहर निकल आया है. अब हम अनलॉक के दौरान में है और हमें दो काम करना है,एक तो कोरोना को हराना और दूसरी हमारी अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाना और ताकत देना है. हमारा हर प्रयास इसी दिशा मे होना चाहिए जिससे सीमाओं की रक्षा के लिए देश की ताकत बढ़े,  देश अधिक सक्षम और आत्मनिर्भर बने, यही हमारे शहिदों के लिए सच्ची श्रध्दांजली होगी.

अवश्य पढ़ें:

भारत का यह आदर्श है

  • संकल्प – भारत के स्वाभिमान और संप्रभुता की रक्षा करना है.
  • लक्ष्य – आत्मनिर्भर भारत है.
  • परंपरा– भरोसा और मित्रता है.
  • भाव – बंधुता है.

हमें इन्ही आदर्शो के साथ बढ़ते रहना है.

देश कई नित नई चुनौतियों का सामना कर रहा है

PM Modi Mann ki Baat in Hindi -28 जून 2020 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की “मन की बात”
PM Modi Mann ki Baat in Hindi -28 जून 2020 प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की “मन की बात”

2020 के साल में लगातार कई आपदाएं आ रही है,हम आपदा का सामना कर उस पर जीत दर्ज करेंगे.कुछ महीने पहले कौन जानता था,कि कोरोना जैसा संकट से सामना करना पड़ेगा-

  • टिडियों का हमला
  • निसर्ग तुफान
  • समय-समय पर भूकंप
  • देश पर हमला आदि

लेकिन इससे भारत और भी भव्य होकर सामने आया है, एक साल में एक चुनौता आए या 50 चुनौती आए,इससे साल खराब नहीं होने देंगे.

‘वोकल फॉर लोकल’ का संदेश – Message for ‘Vocal for Local’

भारत मित्रता निभाना जानता है- तो आँख मे आँख डालकर चुनौती देना भी, लद्दाख में भारत की तरफ आँख उठाने वालों को करारा जवाब मिला है. आजादी के बाद हमें डिफेंस के क्षेत्र में जो प्रगती करनी चाहिए थी, वह नही हो पाई.जो देश हमसे पीछे थे वे कहीं आगे निकल गए है, लेकिन अब ऐसा नही होगा लद्दाक में हमारे जो वीर जवान शहीद हुए है,उनके शौर्य को पूरा देश नमन कर रहा है,पूरा देश उनका कृतज्ञ है. अपने वीर सपूतों के बलिदान पर उनके परिजनों मे जो गर्व की भावना है- देश के लिए जो जज्बा है. यही तो देश की ताकत है. लद्दाक की घटना ने वोकल फॉर लोकल का संदेश तेजी से लोगों के बीच पहुंचाया है. आप लोकल खरीदेंगे,लोकल के लिए वोकल होंगे. ये भी एक तरह से देश की सेवा ही है.

हमारी प्रचीन परंपरा यह बताती है- 

“ विद्या विवादाय धनं मदाय,शक्ति परेषां परिपीडनाय.खलस्य साधोःविपरीतम एतत् ज्ञानाय दानाय च रक्षणाय.”
अर्थात् जो स्वभाव से दुष्ट है वो विद्या का प्रयोग व्यक्ति विवाद में,धन का प्रयोग घमंड में और ताकत का प्रयोग दूसरों को तकलीफ देने में करता है.

लॉकडाउन के दौरान श्रमिको का प्रयास

देश के श्रमिक साथी इसका जीता जागता उदाहरण है

  • अरुणाचल के सियाम गाँव में लोगों ने गाँव के बाहर 14 झोपडियां बनाई, जो बाहर से आने वाले है उन्हे 14 दिन इन्हीं झोपडियों मे रहना होगा.गाँव के लोग उन्हे सभी जरुरत की चीजें उपलब्ध कराई.
  • कुछ श्रमिक साथियों ने कल्य/ नदी का उध्दार करना शुरु किया.
  • कर्नाटक के कामेगौड़ा जानवर चराते है,अब तक वे अपने गाँव के आस-पास छोटे-छोटे 16 तालाब खोद चुके है, उनका यह प्रयास बहुत बड़ा है.
  • लॉकडाउन के दौरान और भी कार्य कर सकते है जैसे-दादा-दादी,नाना-नानी इंटरव्यू ले सकते है.
  • 40-50 साल पहले की जिंदगी को जानना,कई चीजें सीखने को मिलेगी.
  • एक अच्छा अमूल्य खजाना और वीडियो एलबंम भी तैयार हो जायेगा.

अनलॉक के दौरान सतर्कता बरतनी है

लॉकडाउन से देश बाहर आ चुका है और अनलॉक की प्रक्रिया शुरु हो गई है, लेकिन इस दौरान लॉकडाउन से ज्यादा सतर्कता बरतनी है, मास्क पहनना और दो गज की दूरी बनाना बहुत जरुरी है.किसी को भी लापरवाही नही बरतना है अपना भी ख्याल रखें और दुसरों का भी ध्यान रखें.

PM Modi Mann Ki Baat Live LinkClick Here


दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें

Leave A Reply

Your email address will not be published.