स्वतंत्रता दिवस का महत्व और ज़रूरी जानकरी – कैसे देश आज़ाद हुआ और कैसे मिली आज़ादी

0

Happy Independence Day 15th August 2020 in Hindi |स्वतंत्रता दिवस 1947 की पूरी जानकरी हिंदी में – इस साल 15 अगस्त, 2020 को हम 74th स्वतंत्र दिवस ((independence day) मनाने जा रहे है। देश की आज़ादी में देश के वीर जवानों का बहुत बड़ा योगदान है। उन्हीं के संघर्ष का नतीजा है जो हम आज आज़ादी की साँस ले पा रहे हैं। तो आइए इस बार हम देश की आज़ादी और उसकी अज़ादी के क़िस्सों के बारे में कुछ जानकारी साँझा करते हैं। देश में रहने वाले हर व्यक्ति का फर्ज़ है कि वह देश के आज़ादी बारे में सभी जानकारी प्राप्त करने की कोशिश करें।

Happy Independence Day 15th August 2020 in Hindi
Happy Independence Day 15th August 2020 in Hindi

यह त्योहार आज़ादी का प्रतीक है। हमारे वीर जवानों की कठोर तपस्या का प्रतीक है। जिन्होंने खून बहाया हमारी आज़ादी के लिए उनका सम्मान करने का प्रतीक है।

राष्ट्रीय ध्वज की जानकारी :

आपने आज तक कई बार राष्ट्रीय ध्वज देखा होगा और उसके बारे में कई चीज़े जानते भी होंगे। मगर क्या आप जानते हैं राष्ट्रीय ध्वज के रंगो का महत्व और अशोक चक्र की कहानी ? अगर नहीं तो आइए जानते हैं प्यारे राष्ट्रीय ध्वज के बारे में कुछ ज़रूरी जानकारी।

Flag of India Image
Indian Flag
  • भारत के राष्ट्रीय ध्वज को तिरंगा झंडा भी कहते हैं। तीन रंगो के बीच अशोक चक्र दिखने में बहुत मनमोहि है।
  • तिंरंगे झंड़े को पिंगली वैंकैया अपनी सोच की सुंदरता से बनाया था।
  • तिरंगे झंड़े में तीन क्षैतिज पटिया हैं जिनकी चौड़ाइ और लंबाई एक है।
  • पहला रंग है केसरिया जो कि देश की ताकत और साहस का प्रतीक है।
  • दूसरा रंग है श्वेत जो कि देश की शांति और सत्य का प्रतीक है।
  • और सबसे आखिरी में है हरे रंग जो कि सुभ, उर्वरता और प्रगति का प्रतीक है।
  • श्वेत रंग के बीच मे होता है अशोक चक्र जिसमें २4 आरे होती हैं। अशोक चक्र भारत के सदैव चलते रहने और प्रगती का प्रतीक है।
  • ध्वज की लंबाई और चौडाई 3:2 के अनुपात में है।
15 august 2020 independence day
The National Flag of India Hoisted at the Red Fort in Delhi; Hoisted Flags are a Common Sight on Independence Day

अर्थात हमारा राष्ट्रीय ध्वज एकता, शान्ति, प्रगति, शीतलता और विकास का प्रतीक है। इसकी इज़्ज़त करना हर भारतीय का धर्म तथा कर्तव्य भी है। राष्ट्रीय ध्वज का महत्व हमें अपने बच्चों को भी बताना है। उनके अंदर देश भक्ति की भावना ही उनके देश के प्रति कर्तव्य को जागरूक रख सकती है।

स्वतंत्रता दिवस के अनोखे किस्से :

  1. बहुत कम लोगों को पता है कि पाकिस्तान और हिन्दुतान का स्वतंत्रता दिवस एक ही दिन मनाया जाना था। मगर Lord Mountbatten जो कि Undivided India के आखिरी Viceroy थे। उनका दोंनो ही जगाह मोजोद होना ज़रुरी था जिसके चलते पाकिस्तान का स्वतंत्रता दिवस 14 अगस्त को और हिंदुस्तान का स्वतंत्रता दिवस 15 अगस्त को लेने का फैसला लिया गया।
  2. इंडिया नाम इंदुस नदी के नाम के ज़रिए रखा गया जिसके पास ही लोग सबसे पहले आकर रहने लगे थे।
  3. भारत का राष्ट्रगान 24 January को घोषित किया गया था। हालाँकि जन गण मन 1911 में ही लिखा जा चुका था मगर स्वतंत्रता के दौरान उसे राष्ट्रगान घोषित नहीं करा गया था।
  4. भारत का राष्ट्र ध्वज भी congress के स्वराज ध्वज जैसा बनाया गया।
  5. इसी के साथ-साथ स्वतंत्रता दिवस के दिन महात्मा गाँधी जी बंगाल में हिंदु-मुस्लिम प्रोटेस्ट के खिलाफ अनशन पर थे।
  6. ये कुछ ऐसी बातें हैं जो कि बहुत ही कम लोगों को मालूम है।  इन सब जानकारियों को प्राप्त करना तथा इनका अध्यन करने से हमें कई तरह की चेज़ो और अपने देश के बारे में पता लगता है।

स्वतंत्रता की Chronology – कैसे हुई आज़ादी की शुरुवात :

  • स्वतंत्रता दिवस की तैयारी या यूं कहें कि लड़ाई 1885 से नेशनल कांग्रेस मीटिंग के बाद ही शुरू कर दी गयी थी।
  • 1905 में सबसे पहले Bengal का विभाजन किया गया।
  • 1906 में मुस्लिम लीग की स्थापना हुई।
  • 1922 में सिविल डीसोबेड़िएन्से मूवमेंट हुआ।
  • 1930 से dandi march और साल्ट सत्यग्रह हुआ जिसका नेतृत्व माहत्मा गांधी जी ने करा।
  • 1939 में इंडिया और जर्मनी के बीच युद्ध की घोषणा की गई।
  • 1940 में मुस्लिम लीग की लाहौर रेसोलुशन ने मुस्लिम्स के लिए एक अलग शहर की मांग की।
  • 1942 में सुभाष चंद्र बोस ने नेशनल इंडियन आर्मी तैयार की थी।
  • 1944 में गांधी जी और जिन्नाह के बीच हो रही शांति की बातचीत विफल हो कर ख़त्म हो गई।
  • 1946 में कैबिनेट मिशन ने Constitutional स्कीम की बात करी।
  • और इसी के साथ-साथ बहुत-सी और चीज़ों का सामना करते हुए भारत अपने संघर्ष और शूरवीरो की मदद से आज़ादी प्राप्त की तथा हिंदुस्तान और पाकिस्तान का विभाजन हुआ

हिंदुस्तान में स्वतंत्रता दिवस कैसे मनाया जाता है ?

भारत में स्वतंत्रता दिवस मनाने के कई तरीके हैं। लेकिन हम बात करेंगे रौनक और उत्साह की जो होती है लाल किले पर स्वतंत्र दिवस के जशन के दिन।

  1. प्रधानमंत्री के आने के बाद राष्ट्रीय ध्वज लहराया जाता है और राष्ट्रगान होता है। उसके बाद प्रधानमंत्री देश को संबोधित करते हैं और बारी अती है आलीशान प्रोग्राम की। 
  2. हर शहर की अपनी झांकिया निकलती हैं और उनकी एक अलग पहचान होती है। इसी तरह कई और झांकियों की तैयारी की जाती है तथा प्रोग्राम को आगे बढ़ाया जाता है।
  3. भारत की तीनों सुरक्षा सेनाओं की झांकिया और प्रदर्शन होते हैं। उनकी शक्ति और बल का प्रदर्शन किया जाता है।
  4. स्कूल के बच्चे अलग-अलग तरह के कार्य तैयार करते हैं और उनका प्रदर्शन बड़े ही हर्ष-उल्लास के साथ किया जाता है। 
  5. इसी के साथ-साथ वीरता पुरस्कार उन लोगो को दिया जाता है जिन्होंने देश की या देशवासियों की सुरक्षा के लिए कुछ प्रयास किये हैं।

इस तरह महीनों की मेहनत के बाद सभी झांकिया निकलती हैं तथा कार्यक्रम को अंजाम तक लाया जाता है।

हमारा भारत महान है :

इसी लिए कहा जाता है कि हमारा भारत महान है। यहाँ के शूरवीरों ने आज़ादी प्राप्त करने के लिए जी जान लगा दी। एक-एक नोजवान ने अपनी जान की परवाह किये बिना देश की सुरक्षा और अत्यरियों से मुक्ति के लिए हर प्रयत्न कर आज़ादी पा ली।
आज 74 साल बाद भी कई जवानों देश की कितनी ही सीमाओं पर खड़े हैं। उन सबके दिलों में सिर्फ एक ही भाव है और वो है देश की और जनता की सुरक्षा का। हमें इन शूरवीरों की शुरक्षा की कामना करनी चाहिए तथा इनके साथ हर संभव सहयोग करना चाहिए।


दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें: