14 February Pulwama Martyrs Day | 14 फरवरी पुलवामा शहीद दिवस

पुलवामा हमले की सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में | पुलवामा अटैक पर निबंध

0

14 February Pulwama Martyrs Day | 14 फरवरी पुलवामा शहीद दिवस – शहीद दिवस भारत में उन लोगों को श्रद्धांजलि देने के लिए मनाया जाता है, जो भारत की आजादी कल्याण और प्रगति के लिए लड़े और अपने प्राणों की बलिदान दे दिया. पुलवामा आतंकी हमले में शहीद हुए सभी जवानों को श्रद्धांजलि देते हैं.

अवश्य पढ़ें:

14 February Martyrs Day Pulwama Shaheed Diwas (शहीद दिवस)

14 February Pulwama Martyrs Day | 14 फरवरी पुलवामा शहीद दिवस
14 February Pulwama Martyrs Day | 14 फरवरी पुलवामा शहीद दिवस

जम्मू कश्मीर के पुलवामा जिले में 14 फरवरी को केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल के 2500 से अधिक कर्मी और 78 वाहनों के काफिले में जा रहे थे. जम्मू – कश्मीर राजमार्ग पर अवंतीपुरा इलाके में लाटूमोड़ पर इस काफिले पर अपराहन करीब 3:30 बजे घात लगाकर हमला किया गया. इस भीषण  फिदायिनी /आतंकी हमले में सीआरपीएफ के 39 जवान शहीद हो गए. इन शहीदों की याद में इन्हें श्रद्धांजलि देने के लिए (Shaheed Diwas 14 Feb) 14 फरवरी 2020 को पहला पुलवामा शहीद दिवस मनाया जाएगा.  जम्मू कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 39 जवान शहीद हो गए और 20 से अधिक घायल हो गए हमले के वक्त 2500 जवान 78 वाहनों के काफिले में जा रहे थे. इसी दौरान ‘जैश ए मोहम्मद’ के आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से लदी  कार से उनकी बस में टक्कर मार दी. धमाका इतना जबरदस्त था कि बस के परखच्चे उड़ गए करीब 10 किलोमीटर तक धमाके की आवाज सुनाई दी.

पुलवामा आतंकी हमला 14 फरवरी 2019

छुट्टियां बिताने के बाद ड्यूटी पर लौट रहे थे जवान. जम्मू कश्मीर हाईवे पर अवंतीपुरा इलाके में 14 फरवरी 2019 को करीब 3:15 पर आतंकियों ने हमला किया. आत्मघाती हमलावर की पहचान पुलवामा के निवासी आदिल अहमद के तौर पर हुई थी. आतंकी वाहन में 350 किलोग्राम विस्फोटक लेकर आया था. वह गलत दिशा में कार चला रहा था और उसने जिस बस पर सीधी टक्कर मारी उसमें 39 से 44 जवान सफर कर रहे थे. शव इतनी बुरी तरह क्षत-विक्षत हो चुके थे कि डाक्टर भी नहीं बता सके कि वास्तविक संख्या कितनी है.

                    “दरिंदों ने 14 फरवरी को दर्द भरा इतिहास बना दिया, चहचहाते परिवार को मिनटों में राख बना दिया”.

पिछले वर्ष पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए दिल को झकझोर देने वाले हमले के एक वर्ष पुरे होने पर इस मौके पर लेथेपोरा में ही घटनास्थल पर ही शहीद हुए जवानों की याद में स्मारक का उद्घाटन किया जा रहा है. देश की रक्षा करने वाले देश पर मर मिटने वाले और अपने मातृभूमि के लिए शहीद होने वाले वीर सपूतों को SarkariExamHelp की पूरी team की तरफ से हार्दिक श्रध्दान्जली !!

शुक्रवार को इस आत्मघाती घटना की पहली बरसी पर हमले में शहीद हुए सभी शहीदों को श्रध्दान्जली दी जाएगी. इस मौके पर CRPF के महानिदेशक जुल्फिकार हसन, महानिरीक्षक कश्मीर क्षेत्र राजेश कुमार और वशिष्ठ अधिकारी और अन्य बल के वीर जवान लेथेपोरा में शहीद स्मारक का उद्धघाटन करेंगे और श्रध्दान्जली भी अर्पित करेंगे. आगे आपको बताते चले की अलग-अलग तरह के ओपरेशन में इस आत्मघाती हमले के साजिशकर्ताओं को मारा गया है.

एक शहीद स्तंभ का अनावरण पुलवाम अटैक के शहीदों के नाम के साथ किया जायेगा. यह एक सम्मान समारोह है. पुलवामा हमले के शहीदों के नाम के साथ-साथ उनकी तस्वीरें भी होंगी. इसके अलावा केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल का ध्येय वाक्य “सेवा और निष्ठा”भी लिखा होगा. इस मौके पर एक रक्तदान शिविर भी आयोजित किया जायेगा.

घटनास्थल पर ही होगा शहीद हुए जवानों का स्मारक 

पिछले वर्ष पुलवामा में CRPF के काफिले पर हुए दिल को झकझोर देने वाले आत्मघाती हमला घटनास्थल लेथेपोरा पर ही शहीद हुए जवानों की याद में स्मारक का उद्घाटन किया जा रहा है.

हमले के बाद से जवानों की आवाजाही को सुगम बनाया गया है. जवानों के काफिले के आवाजाही को सुरक्षित बनाने के लिए ही सप्ताह में दो दिन निजी वाहनों के चलने पर पूरा प्रतिबंध लगा दिया गया है .जवानों को ले जाने वाले वाहनों को बुलेट प्रूफ बनाने की प्रकिया भी तेजी से चल रहा है. यह तक की गृहमंत्रालय ने भी हमले की आशंका को ध्यान में रख कर हमले से सुरक्षित बचने के लिए उन्हें वायु मार्ग से ले जाने की अनुमती दे दी है.

दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें: