UPSC Prelims: उत्कृष्ट पहला (निर्माण) पोर्टल लॉन्च, यूपीएससी प्रीलिम्स उत्तीर्ण करने वाले छात्रों को मिलेगा एक ₹1 लाख

UPSC CSC Prelims केंद्रीय मंत्री द्वारा यूपीएससी परीक्षा में सफल उम्मीदवारों को पुरस्कृत करने की उत्कृष्ट पहल निर्माण पोर्टल लॉन्च किया गया है। इस पोर्टल के तहत यूपीएससी प्रीलिम पास करने वाले विद्यार्थियों को एक ₹100000 मिलेंगे।

केंद्रीय कोयला एवं खनन मंत्री श्री जी. किशन रेड्डी ने नई दिल्ली में यूपीएससी सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के उम्मीदवारों को पुरस्कृत करने की उत्कृष्ट पहल निर्माण पोर्टल लॉन्च किया है। यह योजना प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के मिशन कर्मयोगी को मध्य नजर ध्यान रखते हुए शुरू किया गया है। जिन-जिन जिलों में कोल इंडिया लिमिटेड अपनी गतिविधियों का संचालन कर रही है, सिर्फ उन्हें जिलों के मेधावी युवाओं को इस योजना का लाभ मिलेगा। यूपीएससी सिविल सेवा प्रेलिम्स परीक्षा 2024 पास करने वाले युवाओं को इस योजना का सुनहरा लाभ प्राप्त होगा।

UPSC Nirman Portal

संघ लोक सेवा आयोग ने सोमवार को सिविल सर्विस प्रीलिम्स का रिजल्ट घोषित कर दिया है। रिजल्ट आयोग की ऑफिशल वेबसाइट upsc.gov.in पर जारी किया गया है रिजल्ट में 14430 शॉर्ट लिस्टेड कैंडिडेट है। प्रीलिम्स परीक्षा में पास हुए उम्मीदवारों को अब मेन्स एग्जाम के लिए अपना आवेदन करना होगा। मेंस का एप्लीकेशन फॉर्म upsc.gov.in पर अगले सप्ताह तक जारी किया जा सकता है। यूपीएससी कैलेंडर के अनुसार सिविल सर्विस मेंस परीक्षा 20 सितंबर को होनी हैं

किसे मिलेगा फायदा

उत्कृष्ट पहला (निर्माण) पोर्टल द्वारा इस योजना का उद्देश्य प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण उन सभी उम्मीदवारों को ₹1लाख़ की सहायता प्रदान करना है। जिनकी वार्षिक पारिवारिक आय ₹8 लाख से कम है और जो अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, महिला या थर्ड जेंडर से संबंधित है।  CIL की गतिविधियों के संचालन वाले 39 जिलों के स्थाई निवासियों को ही इस योजना का लाभ प्राप्त होगा।

स्कीम से संबंधित नियम

यूपीएससी क्लियर करने के लिए उम्मीदवारों को सबसे पहले प्रीलिम्स परीक्षा देना अनिवार्य होता है। इस एग्जाम को पास करने के लिए अभ्यर्थियों को द्वितीय चरण अर्थात मेंस और तृतीय चरण अर्थात इंटरव्यू से गुजरना होता है। कुल मिलाकर यह परीक्षा तीन चरणों के बाद उम्मीदवारों की फाइनल लिस्ट तैयार करता है। इसके आधार पर ही उनका फाइनल सिलेक्शन होता है। वही प्रेलिम्स परीक्षा पास करने के बाद अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, महिला और ट्रांसजेंडर उम्मीदवार जो कोल इंडिया की स्कीम का लाभ उठा सकते हैं, उनका खनन क्षेत्र का स्थाई निवासी होना आवश्यक है। वहीं इसके लिए आवेदन करने के पात्र माने जाएंगे। आवेदनों की पूर्ण पारदर्शी एवं निर्बाध जांच सुनिश्चित करने हेतु आवेदन की पूरी प्रक्रिया प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी के डिजिटल इंडिया के सपने को पूरा करने वाले समर्पित पोर्टल के जरिए ही होता है।

ध्यान रहे :- 1056 पदों पर होगी भर्ती

यूपीएससी की परीक्षा प्रतिवर्ष आयोजित की जाती है। इस वर्ष यूपीएससी ने सिविल सर्विस के 1056 पदों को भरने हेतु ही इस परीक्षा का आयोजन किया है। कैंडीडेट्स अपनी रैंक के अनुसार भारतीय प्रशासनिक सेवा, भारतीय पुलिस सेवा और भारतीय विदेश सेवा समेत अलग-अलग विभागों के लिए नियुक्त किए जाएंगे।

विकसित भारत के लक्ष्य को हासिल करने के लिए कोल इंडिया लिमिटेड एवं इसकी सहायक कंपनियों ने कोयला गतिविधि संचालन वाली क्षेत्र के योग्य एवं वंचित छात्रों को राष्ट्रीय स्तर के प्रतिष्ठित पेशेवर संस्थानों में प्रवेश पानी में उनकी मदद करने के लिए विभिन्न प्रकार की पहल की है। पोर्टल भी उन्हीं में से एक है। 


You can also connect with us on FacebookTwitter or Instagram for daily updates.


इसे भी पढ़े:

Leave a Comment