SarkariExamHelp अब YouTube पर Click Here For Subscribe

राजस्थान सामान्य ज्ञान (Complete GK) और विज्ञान 2021-22 की जानकारी PDF Notes Hindi में

राजस्थान सामान्य ज्ञान (Complete GK) और विज्ञान 2021 PDF Notes Download – दोस्तों आज SarkariExamHelp आप सब छात्रों  को  राजस्थान सामान्य ज्ञान (GK) और विज्ञान 2021 pdf Notes Hindi शेयर कर रहा है. जो छात्र राजस्थान संघ लोक सेवा आयोग अन्य राज्य स्तरीय परीक्षा की तयारी कर रहे है. उनके लिए “राजस्थान सामान्य ज्ञान और विज्ञान 2021” काफी मददगार साबित होगा.

इस बुक का नाम “राजस्थान सामान्य परिचय” है.  जो छात्र राजस्थान लोक सेवा आयोग प्रारम्भिक परीक्षा (Rajasthan  Public Service Commission) की तैयारी कर रहे है, उनको राजस्थान सामान्य ज्ञान (GK) 2021 अवश्य पढना चाहिए. आपको इस Book में राजस्थान का इतिहास, कला, संस्कृति , परम्परा और विरासत की जानकारी पढने को मिलेगी.

[better-ads type=’banner’ banner=’2707′ ]

राजस्थान सामान्य ज्ञान और विज्ञान 2021 के मुख्य अंश

राजस्थान सामान्य ज्ञान (GK) और विज्ञान 2021 PDF Notes Download
Rajasthan Samanya Gyan
  • राजस्थान का सामान्य परिचय
  • राजस्थान की स्थिति, विस्तार, आकृति, एवं भौतिक स्वरुप
  • राजस्थान की अन्य राज्य से सीमा
  • अन्तर्राष्ट्रीय सीमा
  • राजस्थान के प्रतिक चिन्ह
  • राजस्थान की जलवायु
  • राजस्थान के भौतिक विभाग
  • राजस्थान के विभिन्न क्षेत्रो के भौगोलिक नाम
  • राजस्थान की प्रमुख झीलें
  • राजस्थान की प्रमुख नदियाँ
  • राजस्थान की नदियाँ (अरब सागर तंत्र की नदियाँ)
  • राजस्थान की नदियाँ (आन्तरिक प्रवाह तंत्र की नदियाँ)
  • राजस्थान की सिचाई परियोजनाएँ
  • प्राचीन सभ्यताएँ
  • राजस्थान का इतिहास जानने के स्त्रोत
  • गुर्जर प्रतिहार वंश
  • राजपूत युग
  • सिसोदिया वंश
  • आमेर का कछवाह वंश
  • सांभर का चौहान वंश
  • मारवाड़ का राठौर वंश
  • बीकानेर का राठौर वंश
  • 1857 की क्रान्ति
  • राजस्थान में किसान आन्दोलन
  • आदिवासी आन्दोलन
  • प्रजामंडल आन्दोलन
  • राजस्थान का एकीकरण
  • राजस्थान जनगणना 2011
  • साक्षरता
  • वन
  • राजस्थान में कृषि
  • पशु संपदा
  • खनिज संसाधन
  • राजस्थान में उर्जा विकास
  • राजस्थान में वित्तीय संगठन
  • राजस्थान में पर्यटन विकास
  • राजस्थान में लोक देवता
  • राजस्थान में लोक देवियाँ
  • राजस्थान में सम्प्रदाय
  • राजस्थान में त्यौहार
  • राजस्थान के मेले
  • रीती-रिवाज़
  • मृत्यु से संबंधित संस्कार
  • प्रमुख शब्दाबली
  • राजस्थान में प्रचलित प्रथाएं
  • आभूषण व वेशभूषा
  • राजस्थान की जनजातियाँ
  • राजस्थान के दुर्ग
  • भारत की प्रमुख संगीत गायन शैलियाँ
  • राजस्थान में नृत्य
  • राजस्थान में लोकनाट्य
  • वाद्य यन्त्र
  • प्रमख वादक
  • राजस्थान की चित्र शैलियाँ
  • चित्रकला की प्रमुख संस्थाएं
  • प्रमुख चित्रकला संग्रहालय
  • प्रमुख चित्रकार
  • लोक गीत
  • लोक गायन शैलियाँ
  • राजस्थान में हस्तकला
  • महल
  • हवेलियाँ
  • राजस्थान की एतिहासिक छतरियां
  • राजस्थान के प्रमुख सांस्कृतिक क्रायक्रम स्थल
  • राजस्थान की भाषा एवं बोलियाँ

राजस्थान का सामान्य परिचय

Rajasthan Map With Districts
Rajasthan Map With Districts
  • राजस्थान का कुल क्षेत्रफल 3,42,239 वर्गकि.मी. है। जो कि देश का 10.41 प्रतिशत है और क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का देश में प्रथम स्थान है।
  • 1 नवम्बर 2000 को मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ का गठन हुआ और उसी दिन से राजस्थान देश का प्रथम राज्य बना।
  • 2011 में राजस्थान की कुल जनसंख्या 6,86,21,012 थी जो की देश की जनसंख्या का 5.67 प्रतिशत है।

राजस्थान की स्थिति, विस्तार, आकृति, एवं भौतिक स्वरूप

  • भुमध्य रेखा के सापेक्ष राजस्थान उतरी गोलाद्र्व में स्थित है।
  • ग्रीन वीच रेखा के सापेक्ष राजस्थान पुर्वी गोलाद्रुव में स्थित है।
  • ग्रीन वीच व भुमध्य रेखा दोनों के सापेक्ष राजस्थान उतरी पूर्वी गोलादरुव में स्थित है।
  • राजस्थान राज्य भारत के उत्तरी-पश्चिमी भाग में 23″ 3′ से 30″ 12′ उत्तरी अक्षांश (विस्तार 7″ 9′) तथा 69″ 30′ से 7817′ पूर्वी देशान्तर (विस्तार 8° 47′) के मध्य स्थित है। राजस्थान का क्षेत्रीय विस्तार 342239 वर्ग किलोमीटर है जो भारत के कुल क्षेत्र का 10.41 प्रतिशत है। क्षेत्रफल की दृष्टि से यह भारत का सबसे बड़ा राज्य (1 नवम्बर, 2000 को मध्यप्रदेश से छत्तीसगढ़ के अलग होने के बाद) है।
  • कर्क रेखा अर्थात 23 ” 30′ अक्षांश राज्य के दक्षिण में बांसवाड़ा-इंगरपुर जिलों से गुजरती है। बांसवाड़ा शहर कर्क रेखा से राज्य का सर्वाधिक नजदीक शहर है।
  • विस्तारः- उत्तर से दक्षिण तक लम्बाई 826 कि. मी. व विस्तार उत्तर में कोणा गाँव (गंगानगर) से दक्षिण में बोरकुण्ड गाँव (कुशलगढ़, बांसवाड़ा) तक है।
  • पूर्व से पश्चिम तक चैड़ाई 869 कि. मी. व विस्तार पूर्व में सिलाना गाँव(राजाखेड़ा, धौलपुर) से पश्चिम में कटरा (फतेहगढ़,सम, जैसलमेर) तक है।
  • राजस्थान का अक्षांशीय अंतराल -79′
  • राजस्थान का देशान्तरीय अंतराल -8471
  • आकृति :विषम कोणीय चतुर्भुज या पतंग के समान।
  • स्थलीय सीमा: 5920 कि.मी.(1070 अन्तराष्ट्रीय व 4850 अन्तराज्जीय)।

रेडक्लिफ रेखा

रेडक्लिफ रेखा भारत और पाकिस्तान के मध्य स्थित है। इसके संस्थापक सर सिरिल एम रेडक्लिफ को माना जाता है। इसकी स्थापना 14/15 अगस्त, 1947 को की गयी। इसकी भारत के साथ कुल सीमा 3310 कि.मी. है।

रेडक्लिफ रेखा पर भारत के चार राज्य स्थित है।

  • जम्मू-कश्मीर(1216 कि.मी.)
  • पंजाब(547 कि.मी.)
  • राजस्थान(1070 कि.मी.)
  • गुजरात(512 कि.मी.)

महत्वपूर्ण तथ्य

  • रेडक्लिफ रेखा के साथ सर्वाधिक सीमा- राजस्थान (1070 कि.मी.)
  • रेडक्लिफ रेखा के साथ सबसे कम सीमा- गुजरात(512 कि.मी.)
  • रेडक्लिफ रेखा के सर्वाधिक नजदीक राजधानी मुख्यालय- श्री नगर
  • रेडक्लिफ रेखा के सर्वाधिक दुर राजधानी मुख्यालय- जयपुर
  • रेडक्लिफ रेखा पर क्षेत्र में बड़ा राज्य- राजस्थान
  • रेडक्लिफ रेखा पर क्षेत्र में सबसे छोटा राज्य- पंजाब

रेडक्लिफ रेखा के साथ राजस्थान की कुल सीमा 1070 कि.मी. है। जो राजस्थान के चार जिलों से लगती है।

  • श्री गंगानगर- 210 कि.मी.
  • बीकानेर- 168 कि.मी.
  • जैसलमेर- 464 कि.मी.
  • बाइमेर- 228 कि.मी.
  • रेडक्लिफ रेखा राज्य में उत्तर में गंगानगर के हिंदुमल कोट से लेकर दक्षिण में बाड़मेर के शाहगढ़ बाखासर गाँव तक विस्तृत है। रेडक्लिफ रेखा पर पाकिस्तान के 9 जिले पंजाब प्रान्त का बहावलपुर, बहावलनगर व रहीमयार खान तथा
  • सिंध प्रान्त के घोटकी, सुक्कुर, खेरपुर, संघर, उमरकोट व थारपाकर राजस्थान से सीमा बनाते हैं।
  • राजस्थान के साथ सर्वाधिक सीमा- बहावलपुर राजस्थान के साथ न्युनतम सीमा- खैरपुर

पाकिस्तान के दो राज्य(प्रांत) राजस्थान से छूते हैं।

  1. पंजाब प्रांत
  2. सिंध प्रांत
  • रेडक्लिफ रेखा एक कृत्रिम रेखा है।
  • राजस्थान से सर्वाधिक सीमा जैसलमेर(464 कि.मी.) व न्यूनतम सीमा बीकानेर(168 कि.मी. ) की
  • रेडक्लिफ रेखा से लगती है।
  • रेडक्लिफ के नजदीक जिला मुख्यालय- श्री गंगानगर
  • रेडक्लिफ के सर्वाधिक दुर जिला मुख्यालय- बीकानेर
  • रेडक्लिफ पर क्षेत्रफल में बड़ा जिला- जैसलमेर
  • रेडक्लिफ रेखा पर क्षेत्रफल में छोटा जिला- श्री गंगानगर
  • राजस्थान के केवल अन्तराष्ट्रीय सीमा वाले जिले- 2(बीकानेर, जैसलमेर)
  • राजस्थान के परिधिय जिले 25
  • राजस्थान के अन्तर्राज्जीय सीमा वाले जिले -23
  • राजस्थान के केवल अन्तर्राज्जीय सीमा वाले जिले 21
  • राजस्थान के 2 ऐसे जिले है जिनकी अन्तर्राज्जीय एवं अन्तराष्ट्रीय सीमा है- गंगानगर(पाकिस्तान + पंजाब), बाड़मेर(पाकिस्तान+ गुजरात)

राजस्थान के 4 जिले ऐसे है जिनकी सीमा दो दो राज्यों से लगती है

  • हनुमानगढ़:- पंजाब + हरियाणा
  • भरतपुर:- हरियाणा + उतरप्रदेश
  • धौलपुर:- उतरप्रदेश + मध्यप्रदेश
  • बांसवाड़ा:- मध्य प्रदेश + गुजरात

नोट

राजस्थान में सबसे पहले सूर्य उदय धौलपुर जिले के सिलाना गाव में होता है। राजस्थान में सबसे बाद में सूर्यउदय जैसलमेर जिले के कटरा गाव में होता है और यही पर सबसे बाद में सूर्यस्त होता है।

राजस्थान में कर्क रेखा बासवाडा जिले के कुषलगढ़ तहसील से होकर गुजरती है। अतः बांसवाडा जिले में सूर्य की किरणे सर्वाधिक सीधी पड़ती है। जबकी श्री गंगानगर जिला कर्क रेखा से सर्वाधिक दूरी पर स्थित है अतः श्री गंगानगर जिले में सूर्य की किरणे सर्वाधिक तिरछी पडती है।

कर्क रेखा

23 30′ उतरी अक्षाश को कर्क रेखा कहते है। कर्क रेखा भारत के आठ राज्यों से होकर गुजरती है – 1. गुजरात 2. राजस्थान 3. मध्यप्रदेश 4. छत्तीसगढ़ 5. झारखण्ड 6. पश्चिम बंगाल 7. त्रिपुरा 8. मिजोरम

कर्क रेखा राजस्थान के बांसवाड़ा के मध्य से होकर गुजरती है। डूंगरपूर जिले को स्पर्श करती है।

राजस्थान:-राजस्थान शब्द का पहला उल्लेख 7 वी. सदी के बसंन्तगढ़ के लेख में हुआ है। बसंन्तगढ़ लेख सिरोही में है। जबकि मारवाड इतिहास के लेखक मुहणौत नैणसी ने भी अपनी पुस्तक “नैणर्स री ख्यात” में “राजस्थान” शब्द का प्रयोग किया और 19 वी. सदी में कर्नल जम्स टाॅड ने अपनी पुस्तक “एनाल्स एंड एटीक्विटिज आफ राजस्थान” मे राजस्थान षब्द का प्रयोग किया। इस पुस्तक का दूसरा नाम “सैण्ट्रल एंड वेस्टर्न स्टेट्स आफ इंडिया” है।

इस पुस्तक का पहली बार हिन्दी अनुवाद राजस्थान के प्रसिद्ध इतिहासकार गोरीषंकर- हीराचंद ओझा ने किया। इसे हिन्दी में “प्राचीन राजस्थान का विश्लेषण” कहते है।कर्नल जेम्स टाड 1818-1821 के मध्य मेवाड़ (उदयपुर) प्रांत में पोलिटिकल ऐजेन्ट थे। उन्होने अपने घोडे पर बैठकर घूम-घूम कर इतिहास लेखन किया अतः कर्नल जम्स डाड को “घोडे वाला बाबा” के नाम से भी जाना जाता है।

जार्ज थामस

कर्नल जेम्स टाड से पूर्व सन् 1800 ई.में “जार्ज थामस” ने राजस्थान के लिए “राजपुताना” की संज्ञा दी। इस बात का उल्लेख विलियम फ्रेंकलिन की पुस्तक “मिलिट्री मेमोयरी” में आता है।

राजस्थान का सांस्कृतिक विभाजन

  1. मेवाड़ – उदयपुर, राजसंमद, भीलवाडा, चितौड़गढ़, प्रतापगढ़ 2. मारवाड़ -जोधपुर, नागौर, पाली, बीकानेर, जैसलमेर, बाडमेर
  2. दुंढाड़ जयपुर, दौसा, टोंक व अजमेर का भाग
  3. हाडौती- कोटा, बूंदी, बारा, झालावाड़
  4. शेखावाटी – चुरू, सीकर, झुन्झुनू
  5. मेवात – अलवर, भरतपुर 7. बागड़, डूंगरपूर, बांसवाडा

Know About PDF: राजस्थान सामान्य ज्ञान (GK) और विज्ञान PDF Notes

  • Magazine Name: “राजस्थान सामान्य ज्ञान और विज्ञान पीडीऍफ़ नोट्स इन हिंदी
  • PDF Size: 24 MB
  • No Of Pages: 310 Pages
  • Quality: High
  • Format: PDF
  • language: Hindi/English
  • Credit: “लोकेश कुमार स्वामी ”

राजस्थान सम्पूर्ण सामान्य ज्ञान (Gk) PDF Download Live View