Latest News2nd October 2022 - 153nd Birth Anniversary of Mahatma Gandhi Jayanti (गांधी जयंती) in Hindi

2nd October 2022 – 153nd Birth Anniversary of Mahatma Gandhi Jayanti (गांधी जयंती) in Hindi

- Advertisement -

Mahatma Gandhi Jayanti in Hindi – हेलो दोस्तों SarkariExamHelp.com में आपका स्वागत है। विश्व भर में प्रसिद्ध महात्मा गांधी के जन्म दिवस गांधी जयंती की आप सभी को हार्दिक शुभकामनाएं। भारत के राष्ट्रपिता महात्मा गांधी मोहनदास करमचंद गांधी जिन्हें हम प्यार से बापू भी कहते हैं, उनके जन्मदिन 2 अक्टूबर को हम गांधी जयंती के रूप में मनाते हैं। गांधीजी विश्व भर में अपने अहिंसात्मक आंदोलन के लिए जाने जाते हैं और यह दिन उनके प्रति वैश्विक स्तर पर सम्मान व्यक्त करने के उद्देश्य ही मनाया जाता है। राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को भारत में महात्मा गांधी ही नहीं बल्कि बापू के नाम से जानते हैं जिनका पूरा नाम मोहनदास करमचंद गांधी है। संपूर्ण भारत में गांधी जयंती उनके जन्मदिवस 2 अक्टूबर को मनाया जाता है, क्योंकि महात्मा गांधी जी अहिंसा आंदोलन को चलाने के लिए जाने जाते हैं और विश्व भर में उनके अहिंसा आंदोलन को बहुत ही सराहनीय और उनके प्रति सम्मान व्यक्त किया गया। बस इसी सम्मान को विश्व अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है।

महात्मा गाँधी – एक परिचय

2 october mahatma gandhi jayanti in hindi
2nd october mahatma gandhi jayanti in hindi

दोस्तों जैसा की आप सभी को पता ही होगा कि गांधी जी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ था। गांधीजी का स्वतंत्रता आंदोलन में महत्वपूर्ण भूमिका रहा है महात्मा गांधी को हिंदू और मुस्लिम दोनों के बीच में बहुत ही सम्मान मिला। गुजराती होने के साथ-साथ संपूर्ण रूप से भारतीय थे। उन्हें ब्रिटिश राज भारतीय अधिराज की नागरिकता प्राप्त थी। गांधी जी की शिक्षा अपने जन्म स्थान पर ही हुई किंतु हाई स्कूल राजकोट से करने के बाद वह बैरिस्टर की पढ़ाई के लिए विदेश सिटी कॉलेज ऑफ़ लंदन गए। वह राजनीतिक वरिष्ठ पत्रकार दार्शनिक निबंधकार संस्मरण लेखक और क्रांतिकारी होने के साथ-साथ एक बहुत ही अच्छे लेखक भी थे। गांधी जी का परिवार बहुत ही धार्मिक था उनका परिवार अपने बच्चों को घरेलू नाम से पुकारते थे जो कि भारतीय संस्कृति में प्रचलन है मोहन दास का घरेलू नाम मोनिया था गांधी परिवार गांधी जी को मोनिया कह कर पुकारते थे गांधी जी के दादाजी का नाम उत्तम गांधी था तथा उनके पिता का नाम करमचंद गांधी था।

अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस

2 अक्टूबर महात्मा गांधी का जन्मदिन है और इससे संपूर्ण भारत में गांधी जयंती और विश्व भर में अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर भारत में राष्ट्रीय अवकाश होता है। 15 जून 2007 को संयुक्त महासभा में एक प्रस्ताव की घोषणा हुई। उस घोषणा में 2 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस के रूप में मनाए जाने की घोषणा की गई। रविंद्र नाथ टैगोर में सबसे पहले महात्मा गांधी को महात्मा का खिताब दिया उससे पहले लोग उन्हें मोहनदास करमचंद गांधी ही बुलाते थे या गांधीजी ही कहते थे। हालांकि गांधीजी ने अपनी आत्मकथा में कहा है कि उन्हें कभी नहीं लगता कि वह इस सम्मान के योग्य हैं। गांधी जी को उनके न्याय और सत्य के सराहनीय बलिदान के लिए उनके नाम के साथ महात्मा का नाम मिला है।

महत्मा गाँधी – नोबेल पुरस्कार

भारत सरकार द्वारा आज जितने भी नोट इस्तेमाल हो रहे हैं उन पर महात्मा गांधी का चित्र है। यूनाइटेड किंगडम में डाक टिकट कि श्रंखला महात्मा गांधी के स्वत वार्षिक जयंती के उपलक्ष में जारी किया है। हालांकि गांधीजी को कभी भी शांति का नोबेल पुरस्कार प्राप्त नहीं हुआ है। जबकि पांच बार वह मनोनीत किए गए। दशकों बाद नोबेल समिति ने सार्वजनिक रूप में यह घोषणा की कि उन्हें अपनी इस भूल पर खेद है। यह स्वीकार किया कि पुरस्कार ना देने की वजह राष्ट्रीय विचार थे।

बिरला भवन नई दिल्ली में 30 जनवरी 1948 को महात्मा गांधी की हत्या हुई। बिरला भवन को भारत सरकार ने 1971 में इसे अधिग्रहण कर लिया तथा 1973 में गांधी स्मृति के रूप में जनता के लिए खोल दिया जाता है। इस कमरे को संजोए हुए रखा है, जहां गांधी जी ने अपने आखिरी 4 महीने बिताए।

गाँधी जी द्वारा लिखित उनकी चार पुस्तकें

एमके गांधी के द्वारा मौलिक रूप से चार लिखित पुस्तकें हैं। जिसमें हिंदी स्वराज, दक्षिण अफ्रीका के सत्याग्रह का इतिहास तथा सत्य के प्रयोग जो की आत्मकथा है तथा गीता पदार्थ को सहित संपूर्ण गीता की टीका।आपको बता दें कि गांधीजी आमतौर पर गुजराती में लिखते थे परंतु अपनी किताबों का हिंदी और अंग्रेजी में अनुवाद करते या करवाते थे।

सत्य और अहिंसा

इस वर्ष हम गांधी जी की 152 वी जयंती मनाई गई महात्मा गांधी को हम बापू के नाम से भी जानते हैं। सत्य और अहिंसा को लेकर बापू के विचार शुरू से ना सिर्फ भारत बल्कि संपूर्ण दुनिया का मार्गदर्शन करता है और आगे भी करता रहेगा। अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस या गांधी जयंती के दिन स्कूल कॉलेज में वाद विवाद और भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है। बापू ने देश को अंग्रेजों के शासन से मुक्त कराने में अहम भूमिका निभाई। उन्होंने अपने सत्य अहिंसा के सिद्धांतों पर अंग्रेजों को अपने घुटने टेकने पर मजबूर कर दिया उनके अहिंसा के सिद्धांत को आज पूरी दुनिया सलाम करती है।

बस यही वजह है कि पूरा विश्व आज के दिन अंतरराष्ट्रीय दिवस के तौर पर उनकी उनके जन्मदिवस को मनाता है। महात्मा गांधी की महानता और उनके कार्यों विचारों के कारण ही 2 अक्टूबर को उनकी जयंती स्वतंत्रता दिवस और गणतंत्र दिवस के तर्ज पर ही राष्ट्रीय पर्व का दर्जा दिया गया है। गांधी जी का विचार था कि हिंसा के रास्ते पर आप कभी भी अपना अधिकार नहीं पा सकते हैं। उन्होंने विरोध करने के लिए सत्याग्रह का ही रास्ता अपनाया। गांधी जी ने भारतीय समाज में व्याप्त छुआछूत जैसी बुराइयों के प्रति भी लगातार आवाज उठाते उठाते रहे। उन्होंने कभी किसी से भेदभाव नहीं किया बल्कि सभी को बराबरी का दर्जा दिया। यही चाहा कि समाज में सभी जाति को सभी समाज को एक जैसा बराबरी का दर्जा क्यों नहीं बनाया नारी शक्ति के लिए हमेशा प्रयासरत रहें।

General FAQs

गांधी जयंती क्यों मनाई जाती है?

गांधी जयंती पूरे विश्व में अहिंसा दिवस के रूप में मनाई जाती है सत्य और अहिंसा के रास्ते पर चलकर अपने विचारों से संपूर्ण दुनिया को प्रभावित करने वाले राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को उनके जन्मदिन पर याद करने के लिए मनाया जाता है।

2 अक्टूबर को कौन सी जयंती मनाई जाती है?

2 अक्टूबर को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अहिंसा दिवस मनाया जाता है जिसे हम पूरे भारत में गांधी जयंती के रूप में जानते हैं और मनाते हैं।

गांधी जयंती कब मनाई जाती है

प्रत्येक वर्ष 2 अक्टूबर को गांधी जयंती मनाई जाती है।

गांधी जयंती क्या है?

गांधी जयंती एक राष्ट्रीय अवकाश है संपूर्ण भारत में 2 अक्टूबर को मनाया जाता है यह महात्मा गांधी के जन्मदिन पर उन्हें याद करने के लिए मनाया जाता है गांधी जी के जन्म दिवस को संपूर्ण दुनिया में अहिंसा दिवस के रूप में भी मनाया जाता है।

गांधी जी इतने प्रसिद्ध क्यों है?

महात्मा गांधी ना केवल भारत में अभी तू विश्व भर में प्रसिद्ध है क्योंकि वे भारतीय स्वतंत्रता आंदोलन की नेता भी थे साथ ही वह एक भारतीय राजनीतिज्ञ दार्शनिक और लेखक भी थे उन्हें सत्य और अहिंसा के दम पर अपने आंदोलन को सफल बनाने के लिए जाना जाता है।

गांधीजी की हत्या कब हुई?

30 जनवरी 1948 को नाथूराम गोडसे द्वारा एमके गांधी की हत्या कर दी गई थी।

गांधी जी का जन्म कब हुआ?

महात्मा गांधी का जन्म 2 अक्टूबर 1869 को गुजरात के पोरबंदर में हुआ।

गांधी जयंती कैसे मनाया जाता है ?

गांधी जयंती को पूरे भारत में राष्ट्रीय अवकाश के रूप में मनाया जाता है इस दिन राजघाट नई दिल्ली में गांधी जी की प्रतिमा के सामने श्रद्धांजलि अर्पित करने के लिए प्रार्थना सभाएं की जाती है भारत के राष्ट्रपति और प्रधानमंत्री द्वारा उनके स्मारक स्थान पर प्रार्थना के दौरान मौजूद होना और उनका सबसे पसंदीदा भक्ति गीत रघुपति राघव राजा राम बजाया जाता है।

अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस या अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस कब मनाया जाता है?

अंतरराष्ट्रीय शांति दिवस के अंतरराष्ट्रीय अहिंसा दिवस संपूर्ण दुनिया में 2 अक्टूबर को प्रतिवर्ष मनाया जाता है।

गांधीजी का पसंदीदा भक्ति गीत कौन सा है?

रघुपति राघव राजा राम महात्मा गांधी का पसंदीदा भक्ति गीत है।

गांधी जी की उम्र कितनी थी?

78 वर्ष।

गांधी जी की शादी कितने वर्ष में हुई थी?

13 साल की उम्र में।

गांधी जी की पत्नी का नाम क्या था?

महात्मा गांधी की पत्नी का नाम कस्तूरबा गांधी।

महात्मा गांधी के माता पिता का क्या नाम था?

महात्मा गांधी के पिता का नाम करमचंद गांधी और माता का नाम पुतलीबाई गांधी है।


आप हमसे Facebook Page , Twitter or Instagram से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.


आपको यह हमारी नई लेख Mahatma Gandhi Jayanti in Hindi कैसी लगी? और आपको कोई भी Study Materials या PDF Notes चाहिए तो आप हमे कमेंट अवश्य करके जरुर बताये।


इसे भी पढ़ें:

- Advertisement -

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

Latest article

More Articles