26th July Kargil Vijay Diwas – सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

0

Kargil Vijay Diwas 26th July 2020 in Hindi: दोस्तों आज SarkariExamhelp आप सभी छात्रों के बीच प्रत्येक वर्ष 26 July को पुरे भारत में मनाया जाने वाला एक माहान पर्व कारगिल विजय दिवस की जानकारी शेयर करने जा रहा है. आप इस लेख के माध्यम से ये जान पाएंगे की Kargil Vijay Diwas kab hai, कारगिल युद्ध की जानकारी क्यों और कैसे मनाया जाता है, ये तमाम जानकारी आज हम इस लेख में बताएँगे.

अवश्य पढ़ें: 14 February Pulwama Martyrs Day | 14 फरवरी पुलवामा शहीद दिवस

कारगिल विजय दिवस कब है?

Kargil Vijay Diwas
26th July Kargil Vijay Diwas – सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

26 जुलाई को हर साल भारतीय सेना के शौर्य दिवस के रुप में कारगिल विजय दिवस मनाया जाता है. यह कारगिल युध्द 60 दिनों तक चला और 26 जुलाई 1999 को भारत ने पाकिस्तान को हरा दिया, इस विजय को प्राप्त करने में भारतीय सेना के कई जवान शहीद हुए जिसे ऑपरेशन विजय नाम दिया गया इसलिए भारत सरकार ने फैसला किया कि 26 जुलाई को हर साल भारतीय सेना के शौर्य दिवस के रुप में कारगिल विजय दिवस मनाया जाएगा.

शौर्य विजय दिवस क्यों मनाया जाता है?

26 जुलाई को कारगिल विजय दिवस (Kargil Vijay Diwas) मनाया जाता है.26 जुलाई 1999 को कारगिल युद्ध (Kargil war) में भारत को विजय मिली थी. इस युध्द का कारण था. बड़ी संख्या में पाकिस्तानी सैनिकों व भारत-पाकिस्तान की वास्तविक नियंत्रण रेखा के भीतर प्रवेश कर कई महत्वपूर्ण पहाड़ी चोटियों पर कब्जा कर लेह-लद्दाख को भारत से जोड़ने वाली सड़क का नियंत्रण हासिल कर सियाचिन –ग्लेशियर पर भारत की स्थिति को कमजोर कर हमारी राष्ट्रीयता अस्मिता के लिए खतरा पैदा करना था.

भारतीय सेना ने उनके खिलाफ ऑपरेशन विजय चलाया यह 8 मई से शुरु होकर 26 जुलाई तक ऑपरेशन विजय चला था. इस लड़ाई में भारतीय सेना के 527 जवान शहीद हुए तो करीब 1363 घायल हुए. इस कार्यवाही में पाकिस्तान के करीब तीन हजार जवान मारे गए थे.आज भारतीय उन्ही वीर जवानों के नाम एक बार फिर याद करते है और कारगिल शौर्य दिवस की शुभकामनाएं देते है.

शौर्य विजय दिवस कैसे मनाया जाता है?

राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सेना के बड़े अधिकारिक समेत कारगिल शौर्य विजय दिवस पर भारत के शौर्य को सलाम करते हैं और उन्हें नमन करते हे. श्रध्दा सुमन अर्पण करते है, जिन्होने हंसते हंसते मातृभूमि की रक्षा करते हुए वीरगति को प्राप्त हुए जिन्होने अपना आज हमारे कल के लिए बलिदान कर दिया.

“ लहू देकर जिसकी हिफाजत हमने की.ऐसे तिरंगे को दिल में बसाए रखना.हम मर भी जाएं तो कोई गम नहीलेकिन ‘ मरते वक्त ‘ मिट्टी हिन्दुस्तान की हो.शौर्य दिवस की शुभकामनाएं.”


दोस्तों अगर आपको किसी भी प्रकार का सवाल है या ebook की आपको आवश्यकता है तो आप निचे comment कर सकते है. आपको किसी परीक्षा की जानकारी चाहिए या किसी भी प्रकार का हेल्प चाहिए तो आप comment कर सकते है. हमारा post अगर आपको पसंद आया हो तो अपने दोस्तों के साथ share करे और उनकी सहायता करे. आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें:

Leave A Reply

Your email address will not be published.