Joe Biden – Victory is Ahead

0

The former vice president and public representative, Mr. Joe Biden, is now President of the most powerful nation, America. On 7th November 2020, just after the election result announcement, he shared his victory joy with Americans through tweeter. The newly elected American President has stated,” Thanks to all Americans who have voted for me and thanks to them also who didn’t. You have shown faith in me and I promise to work for all Americans.

Joe Biden
Joe Biden – Victory is Ahead

जोए बिडेन के इस ट्वीट के तुरंत बाद उनके सभी समर्थकों के बीच  उन्हें रीट्वीट कर के बधाई देने की होड़ उमड़ पड़ी।  सिर्फ उन्हें समर्थक ही नहीं बल्कि अन्य देशो के राजनितिक हस्तियों से भी बिडेन को जीत की बधाई मिली।  हालाँकि पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने अभी तक अपनी हार स्वीकार नहीं की है और लगातार चुनावी नतीजों को गलत बता रहे हैं।  परन्तु दूसरी तरफ जोए बिडेन और उपराष्ट्रपति कमला हैरिस ने व्हाइट हाउस को संभालने की दिशा में रविवार को ही पहला कदम उठा लिया और बदलाव की प्रक्रिया के लिए एक वेबसाइट और ट्विटर फीड की शुरुआत की।  

Very Terrifying Results for Trump

However, former President Trump still denies accepting the voting results, but the other parliament members of the republic party have did not stated anything in favor of Donald Trump. Another former president, Mr. George W. Bush, also stated that the results are clear, and there is no doubt that Americans have chosen Biden as their President. So, it will be better if Trump also accepts this. Bush has also shared his warm wishes for the New President of America. While sharing his relations with Biden, Bush has stated that whether we have political issues and our thoughts are not the same. But I knew very well, Biden is an excellent human and leader as well. I hope he will work for America with full dedication and energy as he did in the last five decades. 

बिडेन और कमला हर्रिस की वेबसाइट

बिडेन और कमला हर्रिस द्वारा शुरू की गयी वेबसाइट में चार मुद्दों को प्राथमिकता दी गयी है।  जिसमे से कोरोना महामारी को सर्वप्रथम मुद्दा बनाया गया है।  आर्थिक सुधार, नस्लीय समानता और जलवायु परिवर्तन  भी वेबसाइट के अहम् मुद्दों में शामिल हैं।  पदभार सँभालने के पहले दिन से ही राष्ट्रपति और उपराष्टृपति के नेतृत्व में इन मुद्दों पर काम शुरू किया जायेगा।  वैश्विक नेताओ ने भी बिडेन के साथ मिल कर दुनिया की महत्वपूर्ण समस्यायों पर भी मिल कर काम करने की आशा जाहिर की।  कनाडा के प्रधानमंत्री जस्टिन ट्रूडो ने बिडेन को बधाई देते हुए कहा की,”अमेरिका और कनाडा के रिश्ते असाधारण हैं, जो की वैश्विक स्तर पर भी काफी एहम जाने जाते हैं।  हम उम्मीद करते हैं की बिडेन के कार्यकाल में दोनों देशो की भौगोलिक स्थितियां, साझा हित, गहरे व्यक्तिगत संबंध और मजबूत आर्थिक संबंध हमें और भी अधिक घनिष्ट मित्र, साझेदार और सहयोगी बनाएंगे।

The prime minister of Britain, Boris Johnson, has also appreciated Joe Biden and Kamala Harris on their historical victory and showed faith to work together on the world’s most critical issues. In his statement, Boris has mentioned America as their important associate and shown interest in working together on some significant issues from climate change to economic improvement and safety Factors. Australian Prime Minister, Mr. Scott Morrison, has also shown Excitement in his tweet to work with the new President of America. He has stated that it is the right time to reunite both countries in economic and business terms

भारतीय प्रधानमंत्री ने की ट्रम्प उपलक्ष्य में कई रैलियां

गौरतलब है की भारतीय प्रधानमंत्री श्री नरेंदर मोदी ट्रम्प समर्थक रहे हैं और उनके उपलक्ष्य में कई रैलियां और प्रोग्राम भी किये।  साल 2020, फरवरी माह में भारतीय प्रधानमंत्री ने ट्रम्प को भारत आने का न्योता दिया जिसे स्वीकार करते हुए ट्रम्प ने “नमस्ते ट्रम्प” कार्यक्रम में हिस्सा लिया।  परन्तु श्री नरेंद्र मोदी द्वारा किये गए सभी प्रयास विफल हुए।  प्रधानमंत्री मोदी ने अपने मित्र ट्रम्प की हार स्वीकार कर बिडेन को जीत की शुभकामना दी।  मोदी ने कहा की” बिडेन से उनके रिश्ते काफी अच्छे हैं, और उन्हें बेहद ख़ुशी है की अमेरिका के लोगो ने उनपर विश्वास जताया और उन्हें सेवा का मौका दिया”।  वहीँ दूसरी तरफ चीन ने भी डोनाल्ड ट्रम्प की हार को स्वीकार करने से मना कर दिया है।  चीन की तरफ से बिडेन को अभी तक जीत की बधाई नहीं मिली है, जबकि चीन इन चुनिंदा देशो में से एक है जो ये मानता है की चुनावी परिणाम गलत हैं।  


आप हमसे Facebook Page से भी जुड़ सकते है Daily updates के लिए.

इसे भी पढ़ें:

Leave A Reply

Your email address will not be published.